प्रदेश में बिजली चोरी पर अंकुश के साथ लगाम लगे और बिजली की चोरी करने वाले चोरों की धरपकड़ हो तेज

0
130

फरीदाबाद | प्रदेश में बिजली चोरी पर अंकुश के साथ लगाम लगे और बिजली की चोरी करने वाले चोरों की धरपकड़ तेज हो इसके लिये जो अभियान बिजली निगम की ओर से चलाया गया । वह काफी हद तक कारगर सिद्ध हुआ । जिसके बाद चोरी पकड़ने के मामले में प्रदेश के बिजली मंत्री रणदीप सिंह चौटाला द्वारा जारी एक बयान को लेकर हरियाणा स्टेट इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड वर्कर्स यूनियन ने अपनी ओर से आपत्ति दर्ज कराते हुए नाराजगी जाहिर कर रोष जताया है । अपने जारी एक बयान में हरियाणा स्टेट इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड वर्कर्स यूनियन के प्रदेश महासचिव सुनील खटाना ने बताया कि आज प्रदेश का बिजली कर्मचारी और अधिकारी वर्ग कर्मचारियों के संख्याबल व इसकी कमी को लेकर तनाव की परिस्तिथि में काम करने को विवश है । जैसे तैसे इस विभाग को संसाधनों की कमी और मूलभूत सुविधाओं के अभाव में चलाने को मजबूर हैं । पर जिस प्रकार से सरकार व बिजलिमंत्री द्वारा तरह तरह की प्रतिक्रिया बिजली कर्मियों के लिये लगाई जा रही है । यह बेहद ही चिन्ता का विषय है । कि यही वह प्रदेश का बिजली कर्मचारी है । जिसने पूरे भारत देश मे कोरोना काल की इमरजेंसी में ना तो दिन देखा और ना ही रात देखी, हर समय कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने और एक योद्धा की भाँति कोरोना वारियर्स की तरह अपने लक्ष्य पर अडिग रहकर 24-24 घन्टे इस भयानक महामारी में आमजन को निर्बाध बिजली की आपूर्ति दी है । जहां एक ओर देश मे सम्पूर्ण लॉकडाउन लगा हुआ था । और लोग घरों में कैद होकर इस महामारी से जूझ रहे थे । वही बिजली कर्मचारी इस महामारी से भी दो दो हाथ कर रहे थे । एक ओर बिजली कर्मचारियों ने हर कठिन परिस्तिथियों में देश को अँधेरे से उजाले की ओर उजागर करने का काम किया । जिसके फलस्वरूप बिजली कर्मचारियों की अपार मेहनत की बदौलत ही बेहतर सेवाएँ देने में बिजली निगम को राष्ट्रीय स्तर पर दूसरे पायदान पर सम्मान प्राप्त हुआ । बावजूद इसके कि प्रादेशिक कर्मचारियों के मनोबल थपथपाया जाए और उनकी हौंसला अफजाई की जाने की बजाय अलबत्ता कर्मचारियों पर शिकंजा कस उन्हें जबरन ऊलजलूल की बातों में फंसा कर आरोपी बनाया जा रहा है । जिसमे कम्प्यूटर ऑपरेटर, शिफ्ट एटेंडेन्ट, सहायक लाइनमैन, जेई, लाइनमैन, एसडीओ से लेकर एक्सईएन व एसई तबके तक के कर्मचारी और अधिकारियों को जो सीधे तौर पर टारगेट किया जा रहा है । वह घोर निन्दनीय है । यदि कर्मचारियों की अथाह मेहनत और बिजली निगम में उनकी लगन से काम करने का और बिजली निगम को घाटे से उठाकर फायदे की ओर यानी मुनाफे की ओर लाने का जो श्रेय इस तरह का इनाम प्रदेश की खट्टर सरकार व बिजली मंत्री रणदीप सिंह चौटाला की ओर से कर्मचारियों को मिलेगा तो इसके लिये हरियाणा स्टेट इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड वर्कर्स यूनियन भी अपने साथियों के साथ अन्याय के खिलाफ होने वाली इस लड़ाई को लड़ने में मजबूरनवश अग्रिम पंक्ति में आगे अड़कर लड़ने को तैयार है । इस तरह की निंदात्मक व उत्पीड़न की कार्यकाही अगर अधिकारियों और कर्मचारियों पर की गई तो इसके लिए पूरे प्रदेश से जल्द ही एक आवश्यक मीटिंग जारी कर आगामी निर्णायक मोर्चे को खोलने का आगाज तैयार होगा । हरियाणा प्रदेश में इस आन्दोलन से उत्पन्न यदि किसी भी प्रकार की अशांति भंग होती है । तो इसके लिये स्वयं नैतिक जिम्मेदारी हरियाणा प्रदेश सरकार की और बिजली मन्त्री की होगी ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here