रुपये में बढ़ी कमजोरी

0
345

 

मुंबई: घरेलू शेयर बाजारों में गिरावट और विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) की जारी निकासी के कारण शुरुआती कारोबार में रुपया गिरकर 72 रुपये प्रति डॉलर के स्तर के नीचे आ गया। शुरुआती कारोबार में रुपया 22 पैसे गिरकर नौ महीने के निचले स्तर 72.03 रुपये प्रति डॉलर पर रहा। 2019 में पहली बार रुपया 72 के पार गया है।

सरकार की ओर से संकट के दौर गुजर रहे औद्योगिक क्षेत्र को कोई राहत पैकेज मिलने की संभावना नहीं दिखने के कारण बाजार में बिकवाली का दबाव बढ़ा जिससे देसी करेंसी रुपया भी लुढ़क कर 72 रुपये प्रति डॉलर के स्तर को पार कर गया।

गुरुवार को रुपया 71.81 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ था। कारोबारियों ने कहा कि विदेशी बाजारों में डॉलर में तेजी और एफपीआई की निकासी का रुपये पर दबाव रहा। प्रारंभिक आंकड़ों के अनुसार, एफपीआई ने गुरुवार को घरेलू बाजार से करीब 900 करोड़ रुपये की शुद्ध निकासी की। डॉलर के मुकाबले अन्य मुद्राओं में भी गिरावट देखी जा रही है। चीनी करंसी युआन 11 साल के निचले स्तर पर आ गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here