विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल ने धूमधाम से मनाया 10वां फाउण्डेशन डे

0
16

फरीदाबाद। विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल, तिगांव ने अपना10वां फाउण्डेशन डे बड़ी धूमधाम से मनाया। इस अवसर पर कार्यक्रम का शुभारंभ स्कूल के चेयरमैन धर्मपाल यादव एवं राजेश नागर, विधायक तिगांव ने दीप प्रज्ज्वलित करके किया। कार्यक्रम की शुरूआत बच्चों द्वारा प्रस्तुत की गई सुंदर सरस्वती वंदना से हुई। इस अवसर स्कूल के चेयरमैन धर्मपाल यादव, मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित राजेश नागर, विधायक तिगांव, डॉयेरक्टर दीपक यादव, शम्मी यादव, स्कूल के अकेडमिक डॉयरेक्टर सीएल गोयल, प्रिंसिपल कुविंदर कौर ने अन्य गणमान्य लोगों के साथ केक काटकर स्कूल के 10वें फाउण्डेशन डे पर सभी को शुभकामनाएं दीं। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राजेश नागर ने कहा कि उन्हें खुशी है कि आज वे विद्यासागर इंटरनेशनल जैसे प्रतिष्ठित एवं सम्मानित संस्थान के10वां फाउण्डेशन डे के कार्यक्रम का हिस्सा बने हैं क्योंकि विद्यासागर इंटरनेशनल मात्र एक स्कूल नहीं है बल्कि यह एक ऐसा संस्थान है जो लगातार बीते वर्षों में ग्रामीण आंचल में शिक्षा की अलख जगाए हुए है और साथ ही साथ समाज के प्रति अपने कत्र्तव्य और जिम्मेदारियों का भी बेहतर निर्वहन कर रहा है। यह एक आदर्श संस्थान है जिसके मॉडल को हर किसी को अपना चाहिए और व्यवसायिक जिम्मेदारियों के साथ-साथ, देश, समाज एवं क्षेत्र के प्रति भी अपनी जिम्मेदारियों में समाजस्य स्थापित करना चाहिए। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए धर्मपाल यादव ने कहा कि जब विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल की शुरूआत हुई तभी से यह मात्र एक स्कूल या संस्थान नहीं रहा। यहां हम शुरू से ही एक लक्ष्य लेकर चले जिसमें हमारा मानना था कि शिक्षा मानव जीवन का मूल और प्राथमिक अधिकार है और उस पर समाज के हर वर्ग, जाति, धर्म एवं लिंग का समान अधिकार है और यह सभी को मिलनी चाहिए। यही कारण है कि हमने हमेशा से ही ऐसी नीतियों को आत्मसात किया जिससे शिक्षा का उजियारा समान रूप से चारों ओर पहुंचे। इसके लिए हमने छात्राओं को फ्री एडमीशन और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के बच्चों के लिए स्कॉलरशिप का प्रावधान किया। साथ ही चाहे छात्राओं को खेलों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेने के लिए प्रोत्साहित किया जिसके सकारात्मक परिणाम सभी के सामने हैं। उन्होंने कहा कि आज यह गर्व और सम्मान का विषय है कि जो लक्ष्य लेकर हम चले थे उसमें हम सफल हुए हैं, लेकिन आज भी हम अपने सभी साथियों से अपील करते हैं कि यह मात्र एक पड़ाव है मंजिल अभी दूर है। हमें शिक्षा के अधिकार को सभी तक पहुंचाना है ताकि राष्ट्र, विकसित राष्ट्र की सूचि में जगह बना सके। कार्यक्रम में अपनी बात रखते हुए स्कूल के डॉयरेक्टर दीपक यादव ने कहा कि स्कूल की स्थापना से उनके पिता धर्मपाल यादव जी ने जिस प्रकार की नीतियां बनाईं उससे हमेशा से ही उन्हें प्रेरणा मिली की वे भी उनके इस मिशन को पूरा करने के लिए भरसक प्रत्यन करें और इसी से प्रेरित होकर हमने स्कूल को एक ओर जहां बेहतर इंफ्रास्ट्रक्चर के साथ पर्यावरण के करीब बनाया, वहीं दूसरी ओर बच्चों के लिए आधुनिक संसाधनों के साथ-साथ उन्हें योग और सामाजिक संस्कारों से भी जोडऩे का प्रयास किया। यादव ने कहा कि आज स्कूल ने जो पड़ाव हासिल किया है वह स्कूल के सभी स्टॉफ के बेहतरीन प्रयासों और अभिभावकों के उल्लेखनीय सहयोग का अनूठा उदाहरण है। इस अवसर पर कार्यक्रम में अनेक सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए। कार्यक्रम को स्कूल के अकादमी डॉयरेक्टर सीएल गोयल, प्रिंसिपल कुलविंदर कौर एवं अन्य गणमान्य लोगों ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम में जिला पार्षद विक्रम सिंह, सुरजीत सिंह, एचपीएससी प्रदेशाध्यक्ष एसएस गोसाईं, जेजेपी जिलाध्यक्ष ठाकुर राजाराम, हुकुमचंद लांबा, महेन्दर यादव, लखन बेनीवाल अनेक शिक्षाविदें, आसपास के गांवों के गणमान्य लोगों, अभिभावकों एवं छात्रों ने हिस्सा लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here