देश को मजबूत और सुरक्षित बनाने के लिए बच्चों का स्वस्थ होना है जरूरी ।

0
274

फरीदाबाद | प्रदेश के उद्योग एवं वाणिज्य तथा पर्यावरण मंत्री विपुल गोयल ने कहा है कि देश को मजबूत और सुरक्षित बनाने के लिए बच्चों का स्वस्थ होना जरूरी है। स्वस्थ बच्चे ही देश के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। इसलिए बच्चों के पोषण में विभागों के साथ आम लोगों की सहभागिता जरूरी है। ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ की कल्पना तभी साकार होगी, जब देश का हर व्यक्ति स्वस्थ होगा। गोयल बुधवार को फरीदाबाद में देवकी एजुकेशन फाउंडेशन के सहयोग से फरीदाबाद की आंगनवाड़ी केंद्रों में केंद्रों की जरूरत के सामान वितरण समारोह में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सितंबर माह राष्ट्रीय पोषण माह के रूप में मनाया जा रहा है। उन्होंने कहा मुख्यमंत्री मनोहरलाल के मागदर्शन में प्रदेश सरकार भी इस बात के लिए कृतसंकल्प है कि अपना हरियाणा पूरी तरह से कुपोषण मुक्त हो।
उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री ने कहा कि केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी का भी आह्वान है कि 2022 तक कुपोषण मुक्त भारत का लक्ष्य तक हम पहुंच पाएं। उन्होंने कहा कि आंगनवाड़ी केंद्रों में तमाम ढांचागत एवं जरूरत की चीजे मुहैया हो इसके लिए पहले भी कोशिश की गई और फरीदाबाद की सत्तर से अधिक आंगनवाड़ी केंद्रों में यह सामान मुहैया करा गया था, मुझे इस बात की बेहद खुशी है कि आज दूसरे चरण में नब्बे से अधिक आंगनवाड़ी केंद्रों के बेहतरीकरण के लिए आवश्यक दरी, चेयर, कंटेनर सरीखा अन्य जरूरत का सामान आंगनवाड़ी केंद्रों के लिए प्रदान किया गया है। खास बात यह है स्वच्छता एवं सहज उपलब्धता के लिए सेनेटरी पैडस वेंडिंग मशीन बिटिया भी स्लम एरिया में लगाई गई। इस मशीन के माध्यम पांच रुपए मात्र में तीन पेड उपलब्ध रहेंगे। फाउंडेशन के सहयोग से जरूरतमंद महिलाओं को सिलाई मशीने भी वितरित की गई।
इस मौके पर कैबिनेट मिनिस्टर ने पोषण अभियान के प्रति जागरूकता के लिए आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं की रैली को भी रवाना किया। साथ ही उन्होंने कहा कि महिला एवं बाल विकास निगम से जुड़े सभी अधिकारी एवं आंगनवाड़ी वर्कर देश के इस महत्वपूर्ण अभियान को सफल करने के लिए जी-जान से जुटें। उन्होंने कहा कि अभियान का मकसद प्रदेश को कुपोषण से मुक्त करना और हर पुरुष, महिला व बच्चों को कुपोषण से बचाने के प्रति जागरूक करना है।साथ ही गोयल ने कहा कि स्वस्थ रहने के लिए पहली शर्त ही स्वच्छता है। बच्चे स्वस्थ रहें, इसके लिए गर्भावस्था के समय से ही गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य एवं पोषण का ध्यान रखा जाए। बच्चाें में समय से कुपोषण की पहचान कर उसका प्रभावी ढंग से निराकरण किया जाए। कार्यक्रम में जवाहर बंसल, नरेश नंबरदार, रीना मलिक, महिला एवं बाल विकास कार्यक्रम परियोजना अधिकारी अनिता शर्मा, अनिता उपस्थित रहे व सुपरवाइजर सुनीता दहिया ने कार्यक्रम में विशेष सहयोग दिया। इस मौके पर अनेक गणमान्य लोग उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here