एमवीएन विश्वविद्यालय का तृतीय दीक्षांत समारोह सम्पन्न

0
570

फरीदाबाद : एमवीएन विश्वविद्यालय के तृतीय दीक्षांत समारोह कार्यक्रम में मुख्य अतिथि प्रोबृज किशोर कुठियाला जीअध्यक्ष,  हरियाणा राज्यउच्चशिक्षा परिषद् नेमेघावी छात्रों को उपाधि प्रदान करते हुए कहा कि शिक्षा व उच्च शिक्षा ही वह साधन है जिसके द्वारा देश व दुनिया की अद्यतन अपेक्षाओं  और आकाक्षांओं कीचुनौतियों का सामना करने किया जा सकता है, और विविध प्रकार की उच्च शिक्षाओं द्वारा ही अज्ञानरूपी अंधकार को प्रकाशित कर आदर्श समाज की स्थापनाकी जा सकती है। इस क्षेत्र में एमवीएन विश्वविद्यालय एक महत्वपूर्ण व सकारात्मक भूमिका निभा रहा है।  उन्होंने कहा की विश्व में भारतीय ही विपरीत परिस्थितियों में भी अपना धर्य न खोकर अपना बहतरीन प्रदर्शन देते है इसलिये भारतीय छात्रों की सर्वाधिक मांग है।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि प्रोबृज किशोर कुठियाला जी द्वारा 09 रिसर्च स्चोलार्स ( तरुण विरमानी, रामवीर, कृति गुलाटी, नीलकमल, विनोद जैन, कविता गोएल, देवव्रत, मंजू कौशिक, अशोक कुमार) को  डाक्टर आफ फिलासफी की उपाधि प्रदान की गयी। इसके अलावा अन्य 427 मेधावी छात्रों को अभियांत्रिकी,प्रबंधनविधिविज्ञानवाणिज्यकम्प्यूटर अनुप्रयोग एवं भेषजी आदि संकायों की उपाधि प्रदान की गयी। दीक्षांत समारोह में मुख्य अतिथि प्रोबृज किशोर कुठियाला जी द्वारा शैक्षणिक उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए 03 छात्रों (मनीष कुमार, पूनम रावत एवं शिवानी) को स्वर्ण पदक एवं प्रमाण पत्र देकर सम्मानितकिया गया।

दीक्षांत समारोह में विश्वविद्यालय के कुलपति डाजे.वीदेसाई ने विश्वविद्यालय का वार्षिक प्रतिवेदन प्रस्तुत करते हुए कहा कि एमवीएन विश्वविद्यालय कीस्थापना वर्ष 2012 में हरियाणा राज्य निजी विश्वविद्यालय अधिनियम, 2006 के तहत जिला पलवल में हुई थी। विश्वविद्यालय की शुरूआत पांच संकायोंअभियांत्रिकप्रबंधनवाणिज्यविज्ञान संकायकम्प्यूटर एवं सूचना विज्ञान संकाय के डिप्लोमास्नातकपरास्नातकअनुसंधान आदि के पाठ्यक्रमों सेहुई। वर्ष 2015-16 में विधि एवं भेषजी संकाय की स्थापना की गई। वर्ष 2017.-18 में सम्बद्ध स्वास्थ्य विज्ञान संकाय की स्थापना की गई। वर्ष 2018-19 में कृषिविभाग की स्थापनाकी गयी  आगामी सत्रों में आयुर्वेदिक विज्ञानशिक्षावास्तुकला, उड्डयन एवं एअरपोर्ट प्रबंधन, वेयरहाउस एवं सप्लाई चैन प्रबंधन, अग्नि एवं ओद्योगिक सुरक्षा प्रबंधन, फिजियोथेरेपी, फार्मास्यूटिकल केमिस्ट्री, मेडिकल माइक्रोबायोलॉजी आदि संकायों की स्थापना प्रस्तावित है।

इस अवसर पर एमवीएन विश्वविद्यालय के कुलसचिव डाराजीव रतनसमस्त संकायों के संकायाध्यक्ष एवं विभागाध्यक्ष –डाजयशंकर प्रसादडा0इश्तियाक अहमदडाज्योति गुप्ता, डा0 नंदराम, डा0 मुकेश सैनी, डा0 तरंजित, डाबिनीत सिंन्हाडापवन शर्माडादिशा सचदेवाडासचिनगुप्ता,डाराहुल वाष्र्णेय, डा0 मनचंदा, डा0 दिव्या अग्रवाल, संजय शर्मा एवं अध्यापकगणकर्मचारीगण के साथ उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here