जमीन और बिजनस स्ट्रैटिजी पर फंसा पेच, दो गुटों में बंटा गोदरेज परिवार

0
371

 

मुंबई: साबुन से लेकर एयरोस्पेस बिजनस तक में सक्रिय बिजनस ग्रुप को कंट्रोल करने वाला गोदरेज परिवार कुछ फैमिली अग्रीमेंट्स में बदलाव करने पर चर्चा कर रहा है। परिवार में भविष्य की कारोबारी रणनीति को लेकर मतभेद उभर रहे हैं। साथ ही, इनकी मुख्य कंपनी गोदरेज ऐंड बॉएस के कुछ भूखंडों के डिवेलपमेंट पर भी जमशेद गोदरेज और चचेरे भाइयों, आदि एवं नादिर गोदरेज की अलग-अलग सोच सामने आ रही है। परिवार के सदस्यों में इन्हीं मतभेदों पर कुछ फैमिली अग्रीमेंट्स में बदलाव के तरीके तलाशे जा रहे हैं।

मामले से वाकिफ दो अधिकारियों के मुताबिक, ऐसा लग रहा है कि गोदरेज ऐंड बॉएस के पास परिवार की ज्यादा लैंड होल्डिंग्स होने और ग्रुप की लिस्टेड कंपनी गोदरेज प्रॉपर्टीज के इसका कमर्शल उपयोग करने को लेकर ही असल विवाद है। जमशेद गोदरेज परिवार भूखंडों के बहुत ज्यादा डिवेलपमेंट के पक्ष में नहीं है, वहीं आदि गोदरेज और उनके भाई नादिर गोदरेज की राय उलट बताई जा रही है। गोदरेज प्रॉपर्टीज ने सार्वजनिक रूप से कहा था कि वह मुंबई में एक बड़ी डिवेलपर बनना चाहती है। एक अधिकारी ने बताया, ‘मोटे तौर पर रणनीति पर विवाद नहीं है, लेकिन आदि के कजन जमशेद ने इस पर तस्वीर और साफ करने को कहा है, जिनके बच्चे अब सक्रिय भूमिका में नहीं हैं।’

जमशेद गोदरेज के बेटे नवरोज गोदरेज ने गोदरेज ऐंड बॉएस में एग्जिक्युटिव डायरेक्टर का पद छोड़ दिया है। माना जा रहा था कि इसकी कमान उन्हीं के हाथ में जाएगी। हालांकि उनके पद छोड़ने से उनकी कजन नायरिका होल्कर के लीडरशिप रोल में जाने का रास्ता साफ हो गया है। ग्रुप के एक प्रवक्ता ने कहा कि परिवार के दोनों पक्ष गुरुवार को एक बयान जारी करेंगे। बातचीत में शामिल एक अन्य व्यक्ति ने बताया, ‘कुछ बातचीत हुई है। यह जटिल स्ट्रक्चर है। मेन होल्डिंग कंपनी गोदरेज ऐंड बॉएस पर गोदरेज परिवार का नियंत्रण है। इस कंपनी के पास काफी जमीन है।’

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here