आधुनिक भारत के निर्माता थे पं. जवाहर लाल नेहरू : कृष्ण अत्री

0
383

फरीदाबाद:आज एनएसयूआई हरियाणा के प्रदेश सचिव कृष्ण अत्री ने भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू का जन्मदिवस गरीब बच्चों में केके, फल, बिस्कुट, पैन कॉपीबांटकर मनाया। कार्यक्रम सेक्टर-12 सैंट्रल पार्क में किया गया। इस मौके पर प्रदेश सचिव कृष्ण अत्री ने पंडित जवाहरलाल नेहरू के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि उनकाजन्म 14 नवंबर,  1889 में उत्तरप्रदेश के इलाहाबाद जिले में हुआ था। देशभर में जवाहरलाल नेहरू का जन्मदिन 14 नवंबर बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है । नेहरू जी बच्चोसे बेहद प्यार करते थे और यही कारण था कि उन्हें चाचा नेहरू बुलाया जाता था।

कृष्ण अत्री ने बताया कि भारत की स्वतंत्रता में जवाहरलाल नेहरू जी का प्रमुख योगदान रहा है। नेहरू जी महात्मा गांधी के साथ कंधे से कंधा मिलाकर अंग्रेजों के खिलाफ लड़े। चाहेअसहयोग आंदोलन की बात हो या फिर नमक सत्याग्रह  या फिर 1942 के भारत छोड़ो आंदोलन की बात हो उन्होंने गांधी जी के हर आंदोलन में बढ़ चढ़ कर भाग लिया। अत्री नेबताया कि नेहरू जी की विश्व के बारे में जानकारी से गांधी जी काफी प्रभावित थे और इसीलिए आजादी के बाद उन्हें प्रधानमंत्री पद पर देखना चाहते थे। सन 1920 में उन्होंने  उत्तरप्रदेश के प्रतापगढ़ जिले में पहले किसान मार्च का आयोजन किया था। 1923 में वह अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के महासचिव चुने गए। उन्होंने कहा कि नेहरू जी नेआधुनिक भारत के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की। उन्होंने योजना का गठन किया, विज्ञान के विकास को प्रोत्साहित किया। उनकी नीतियों के कारण देश में कृषि औरउद्योग का एक नया युग शुरू हुआ। भारत की नीति के विकास में एक प्रमुख भूमिका निभाई। उन्होंने एशिया और अफ्रीका में उपनिवेशवाद के रचनाएं के लिए एक गुट निरपेक्षआंदोलन की रचना की। उन्होंने कहाकि नेहरू जी ने गरीब, मजदूर एवं कमजोर लोगों के लिए अथक प्रयास कर नए राष्ट्र का निर्माण किया है।

इस मौके पर जिला मीडिया कोऑर्डिनेटर अजित त्यागी, छात्र नेता विकास फागना, आरिफ खान, सदाम खान, सुमित तंवर, रोहित कबीरा, लक्ष्मण, सोनू सिंह, गोलू राजपूत, दीपकराजपूत, सोनू सैनी, अभिषेक मिश्रा, कृष्णा चौहान, शिवम आदि मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here