वेदों में मानव धर्म सर्वोपरि : सत्यपाल आर्य

0
467
 फरीदाबाद : सत्यपाल आर्य  प्रादेशिक प्रतिनिधि उपसभा, हरियाणा एवं डी.ए. वी. शताब्दी कॉलेज, फरीदाबाद की आर्य समाज इकाई के सयुक्त तत्वधान  में ‘ऋषि बोध  उत्सव’ का आयोजन किया गया | कार्यक्र्म में में डी.ए. वी.  सी. ऍम. सी. नई दिल्ली के सचिव एवं आर्य प्रादेशिक प्रतिनिधि उपसभा हरियाणा के सचिव सत्यपाल आर्य बतौर मुख्य अतिथि और अतिरिक्त जिला सैशन जज सत्यभूषण आर्य ने अध्यक्षता की !  कॉलेज प्रचार्य एवं आर्य प्रादेशिक  प्रतिनिधि उपसभा, हरियाणा  के प्रधान डॉ सतीश आहूजा एवं आर्य पर्देशिक प्रतिनिधि उपसभा , हरियाणा  के प्रधान डॉ  के. एल . खुराना  के द्वारा  कार्यक्रम का संयोजन  किया गया  | ऋषि बोध  उत्सव का शुभारम्भ प्रात: यज्ञ  एवं वेद- मंत्रोचारण के साथं हुआ जिसमे पलवल, होडल एवं फरीदाबाद  से आये विभिन्न आर्य समाजी सेवको, संतो, महात्माओ एवं गुरुकुल गदपुरी पलवल से आये आचार्यो एवं छात्रों ने भाग लिया !  इस यज्ञ  की अग्नि  के सानिध्य में आये सभी अतिथियों  ने गायत्री मन्त्र अग्नि मंत्रोचारण  कर समाज में व्याप्त बुराइयों को दूर कर वेदो के प्रचार एवं प्रसार की प्रतिज्ञा  ली! हवन के उपरांत कॉलेज  सभागार  में एक सामूहिक परिचर्चा का आयोजन  किया गया जिसमे आर्य समाज  के उदेश्यो  एवं महर्षि दयानद के उपदेशो से सभी को अवगत करवाया  गया | कार्यक्र्म में  महृषि दयानद के जीवन पर आधारित एक लघु च्चित्र दिखाया   जिसमे मानवधर्म के बारे में प्रकाश डाला गया | कार्यक्र्म में  आर्य समाज के सभी विद्वानों आर्य सेवको  को गायत्री पटका प्रदान कर  उनका अभिनन्दन किया गया | कार्यक्रम में मंच संचालन का आर. बी. सिंह ने सम्भाला जिन्होंने सभी  को  डी.ए. वी महाविधालय आर्य समाज की रिपोर्ट से परिचित कराया ! उत्सव में विभिन संस्कृतिक कार्यक्र्म का आयोजन किया गया जिसमे छात्रों एवं सेवादारों द्वारा प्रस्तुत किये गए भजनो ने सभागार में एक आधात्मिक वातावरण का माहोल बना दिया | कॉलेज प्राचार्य व् कॉलेज आर्य समाज  इकाई के प्रधान डॉ सतीश आहूजा  ने उत्सव में  सम्मिलित सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए कॉलेज के द्वारा आर्य समाज के उदेश्यों  की पूर्ति हेतु वेदो के प्रचार हेतु किये गए कार्यो से सभी को अवगत कराया | मुख्य आतिथि सत्यपाल आर्य  ने  कहा की आर्य समाज में एवं हमारे वेदो में धर्म एवं विचारधारा के बारे में नहीं सिर्फ मानवधर्म के बारे में जोर दिया गया है उन्होंने सभी को मानवता का पाठ पढ़ाया | आर्य समाज के  उपदेश ही समाज में व्याप्त समस्त बुराइयों , कष्टों कलेशो  जवाब दुखो का निवारण करने की क्षमता रखते है | हमारी वैदिक संस्कृति  का संरक्षण आर्य समज के विचार व्   महर्षि दयानद के उपदेशो का उचित अनुकरण करने से ही संभव  है | कार्यक्रम के अंत  में डॉ के.अल. खुराना ने आये हुए सभी अतिथियों का धन्यवाद् ज्ञापन किया और राष्टगान के साथ कार्यक्रम सम्पन हुआ | इस मौके पर मुख्य रूप से पूर्व विधायक व् हरियाणा सरकार में कैबिनेट मंत्री  राजेंद्र  बिसला, सेवा निवृत आई ए एस सुखबीर सिंह, डी ए वी स्कूल सेक्टर १४ के पूर्व प्रिंसिपल  एस एस चौधरी, नन्दलाल आर्य, सत्यदेव गुप्ता, अलका गुप्ता, प्रमोद योगार्थी, आचार्य ऋषिपाल, आचार्य  हीर मणि, आचार्य कौशल आदि लोग उपस्थित रहे | कार्यक्रम के सफल आयोजन  में सरोज कुमार, प्रमोद कुमार, अशोक मंगला, आनंद सिंह, रामकुमार  एवं कॉलेज के सभी विभगों के प्रोफेसर का पूर्ण सहयोग रहा !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here