ऐथलीट दुती चंद बोलीं, अभी मैं खत्म नहीं हुई हूं

0
104

नई दिल्ली: धाविका दुती चंद ने बुधवार को कहा कि वह अभी खत्म नहीं हुई हैं और समलैंगिक रिश्ते के खुलासे के बाद कुछ हलकों में फैली नकारात्मकता के बावजूद पिछले सप्ताह विश्व यूनिवर्सिटी खेलों में गोल्ड जीतने के बाद उनकी नई सफलतायें अर्जित करने की लालसा बढ़ गई है ।

23 बरस की दुती ने नौ जुलाई को नपोली में विश्व यूनिवर्सिटी खेलों में स्वर्ण पदक जीता और वह ऐसा करने वाली पहली भारतीय महिला बन गईं। दुती ने कहा कि यह उनके आलोचकों को करारा जवाब है जिन्होंने समलैंगिक रिश्ता कबूल करने के बाद उनका बोरिया बिस्तर बंधवा दिया था।दुती ने कहा, ‘कई लोगों ने खराब भाषा का इस्तेमाल किया। उन्होंने कहा कि दुती का फोकस निजी जीवन पर है और ऐथलेटिक्स में उनका करियर खत्म हो गया है। मैं उन्हें बताना चाहती हूं कि मैं अभी खत्म नहीं हुई हूं।’ उन्होंने कहा, ‘जिस तरह दूसरे इंसान अपनी निजी जिंदगी को लेकर चिंतित होते हैं, वैसे ही मैं भी हूं। यही वजह है कि मैने अपने रिश्ते के बारे में स्वीकार किया।’

उन्होंने कहा, ‘इसके यह मायने नहीं है कि मेरा अपने करियर पर ध्यान नहीं है। मैंने अपना रिश्ता इसलिए स्वीकार किया क्योंकि मुझे लगा कि वह जरूरी है। अब मेरा फोकस पहले से ज्यादा अपने करियर पर है।’ वर्ल्ड यूनिवर्सिटी खेलों में पदक जीतने के बाद उन्होंने ट्वीट किया था, ‘मुझे नीचा दिखाओ, मैं और मजबूती से उठूंगी।’

23 साल की दुती को अभी दोहा में इस साल के आखिर में होने वाली विश्व चैंपियनशिप और अगले साल तोक्यो ओलिंपिक के लिए क्वॉलिफाइ करना है। उन्होंने कहा, ‘विश्व स्तर पर यह मेरा पहला स्वर्ण है लेकिन आगे का रास्ता कठिन है। मेरा लक्ष्य विश्व चैम्पियनशिप और फिर ओलिंपिक है। मुझे इतने सारे लोगों से बधाई संदेश आए लेकिन मेरे पैर जमीन पर हैं। मुझे आगे अहम टूर्नमेंटों पर ध्यान देना है ।’

दुती ने कहा, ‘मैने अभी विश्व चैम्पियनशिप या ओलिंपिक के लिए क्वॉलिफाइ नहीं किया है। इस बार क्वॉलिफाइंग टाइमिंग और कठिन है। मैंने भारतीय ऐथलेटिक्स महासंघ से एशिया या यूरोप में कुछ टूर्नमेंट का बंदोबस्त करने के लिए कहा है ताकि मैं क्वॉलिफाइ कर सकूं।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here