टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को 31 रन से हराया

0
413

 

नई दिल्ली। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच एडिलेड में खेले गए पहले टेस्ट में टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को 31 रन से हरा दिया। इतिहास में यह पहला मौका है जब भारतीय क्रिकेट टीम ने ऑस्ट्रेलिया में सीरीज के पहले टेस्ट मैच में जीत हासिल की है।

मैच के बाद कप्तान विराट कोहली ने इस जीत के लिए सभी खिलाड़ियों की तारीफ की लेकिन गेंदबाजों का विशेष तौर पर सराहना की। उन्होंने कहा कि चार गेंदबाजों के साथ खेलकर विपक्षी टीम के 20 विकेट निकालना बहुत बड़ी उपलब्धि है। गेंदबाजों के इस प्रदर्शन को देखते हुए अब बल्लेबाजों पर ज्यादा दबाव है कि वे अच्छा स्कोर खड़ा करें ताकि गेंदबाजों को विरोधी को आउट करने का पर्याप्त मौका मिल सके।

चार मैचों की सीरीज के पहले टेस्ट मैच में भारतीय टीम द्वारा दिए गए 323 रन के लक्ष्य के जवाब में पांचवें दिन ऑस्ट्रेलिया की पूरी पारी 291 रन पर सिमट गई। पांचवें दिन ऑस्ट्रेलिया ने थोड़ा संघर्ष जरुर किया लेकिन जिस तरह से भारतीय गेंदबाजों ने गेंदबाजी की, उसके सामने टिकना बिल्कुल आसान नहीं था।

चौथे दिन का खेल शुरू हुआ तो पुजारा और रहाणे ने भारत के स्कोर को आगे बढ़ाया। पुजारा और रहाणे ने अर्धशतक जड़े। हालांकि इन दोनों के बाद भारत के निचले क्रम के बल्लेबाज नहीं चल पाए और उसने अपने आखिरी चार विकेट पर चार रन के अंदर गंवा दिए। पुजारा ने 71 और रहाणे ने 70 रन बनाए। इन दोंनों की मदद से भारत 307 रन बनाने में सफल रहा। वहीं ऑस्ट्रेलिया के लिए नाथन लियोन ने 122 रन देकर छह और मिशेल स्टार्क ने 40 रन देकर तीन विकेट लिए।
इसके बाद मोहम्मद शमी (15 रन देकर दो) और रविचंद्रन अश्विन (44 रन देकर दो) ने भारत को महत्वपूर्ण सफलताएं दिलाईं। मार्श और हेड ने हालांकि अंतिम घंटे में भारतीय गेंदबाजों के सामने कड़ी परीक्षा से गुजरकर मैच के रोमांचक अंत की उम्मीदें भी जगा दी हैं। भारत ने पहली पारी में 250 रन बनाने के बाद ऑस्ट्रेलिया को 235 रन पर आउट कर दिया था।

इससे पहले भारत ने सुबह तीन विकेट पर 151 रन से आगे खेलना शुरू किया। पुजारा और रहाणे ने चौथे विकेट के लिए 87 रन की साझेदारी करके ऑस्ट्रेलियाई आक्रमण को बैकफुट पर रखा। पहली पारी में शतक जड़ने वाले पुजारा ने दिन के शुरू में ही दो चौके लगाकर सकारात्मक अंदाज में शुरुआत की। रहाणे 74वें ओवर में डीआरएस के सहारे कैच आउट होने से बचे।

टेस्ट सीरीज के पहले मैच में भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया हालांकि उसका ये फैसला तब गलत साबित होता दिख रहा था जब उसने 41 रन पर ही अपने 4 विकेट खो दिए थे, इसके बाद चेतेश्वर पुजारा की 123 रन शानदार पारी की बदौलत किसी तरह 250 रन तक पहुंचने में सफल रही। इसके बाद टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी 235 रन पर समेट 15 रन की बढ़त हासिल की।

इसके बाद भारतीय टीम ने अपनी दूसरी पारी में पुजारा और रहाणे के अर्धशतक की बदौलत 307 रन का स्कोर खड़ा किया। पहली पारी में 15 रन से पिछड़ने के कारण ऑस्ट्रेलिया को 323 रन का लक्ष्य मिला, जिसके जवाब में ऑस्ट्रेलिया 291 रन पर सिमट गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here