कर्मचारी के निष्कासन पर फूटा गुस्सा लगाये उमण्डल अधिकारी व कार्यकारी अभियन्ता के खिलाफ नारे: सुनील खटाना

0
340

 

फरीदाबाद: बिजली कर्मचारियों पर हो रहे उत्पीड़न को लेकर आज हरियाणा स्टेट इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड वर्कर यूनियन के बैनरतले सर्कल फरीदाबाद के तमाम कर्मचारियों ने अपने टूल व पेन डाऊन कर एनआईटी डिवीजन की सबडिवीजन नम्बर तीन सेक्टर 23 के प्राँगण पर दरियों पर बैठ विरोध प्रदर्शन कर नारेबाजी की ।

कर्मचारियों के इस विरोध प्रदर्शन की अध्यक्षता सबयूनिट प्रधान ईश्वर सिंह ने की व मंच का संचालन यूनिट सचिव जयभगवान आंतिल ने किया । प्रदर्शन में मौजूद सर्कल सचिव सन्तराम व एनआईटी यूनिट प्रधान बलबीर कटारिया सचिव बृजपाल तंवर ने कर्मचारियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि राज्य के मुखिया ने 20 जुलाई 2019 को प्रादेशिक वार्तासमिति की बैठक में हरियाणा कर्मचारी महासंघ से कई माँगों लागू करने के साथ साथ कहा कि प्रदेश का एक भी कर्मचारी किसी भी विभाग से निकाला नही जायेगा लेकिन आज बिजली अधिकारी खुद मुख्यमंत्री से ऊपर होकर अपने आपको समझते हैं जिन्हें ना तो (मुख्यमंत्री) बिजलीमंत्री की बातों से सरोकार है और ना ही उनके आदेशों की पालना का भय है और जो कर्मचारियों पर आयेदिन उल-जुलूल फरमान जारी करते हैं । जिसका असर यह देखने मिलता है कि प्रदेश सरकार की छवि को ऐसे अधिकारियों दवारा धूमिल करने में अब कोई कोर कसर नही छोड़ी जा रही । मौके पर मौजूद वरिष्ठ कर्मचारी नेता सुनील खटाना ने बताया कि इसका जीता जागता उदाहरण यह है कि सबडिवीजन नम्बर तीन की एसडीओ मैडम उर्मिला ग्रेवाल ने सरकार की बातों की परवाह ना करते हुए दो कर्मचारीयों को जो कि कई सालों से विभाग में कार्यरत रहे उन्हें निकालने के तुगलकी फरमान जारी कर दिये जिससे सभी बिजली कर्मचारी भड़क उठे और अपने कर्मचारीयों के निकाले जाने पर उनमे रोष व्यापित हैं ।

जिसके तहत आक्रोशित कर्मचारियों ने एनआईटी डिवीजन के कार्यकारी अभियन्ता जितेंदर ढुल के अड़ियल रवैये व निगम मैनेजमेन्ट के खिलाफ जमकर नारेबाजी की । जिसमे कर्मचारी नेता कर्मवीर यादव सचिव मदनगोपाल शर्मा ने कहा कि इसी के चलते एचएसईबी वर्कर यूनियन की सर्कल कमेटी ने यह फैसला लिया और बाकायदा पहले से ही अधिकारियों को यूनियन ने नोटिस जारी कर अवगत कराया कि यदि फरीदाबाद सर्कल से एक भी कर्मचारी इस विभाग से निकाला गया तो हमारी यूनियन इसे बिल्कुल कतई बर्दाश्त नही करेगी इसका खामियाजा या किसी भी प्रकार का नुकसान या हानि होती है तो निश्चित तौर पर आधिकारी वर्ग जिम्मेदार होंगे ।

ओल्ड फरीदाबाद यूनिट से प्रधान लेखराज चौधरी ने कहा कि जब तक इन्हें वापिस नही लिया जाता तब तक कर्मचारी आन्दोलनरत व आक्रोशित रहेंगे और अभी तो यह प्रदर्शन शान्तिपूर्ण तरीके से किया जा रहा है यदि बहाली ना की गई तो इसे उग्रता रूप देने में ये अधिकारी दोषी होंगे । इस अवसर पर ठाकुर राजराम विनोद शर्मा राजबीर सिंह सुनील चौहान वेदप्रकाश मोहरपाल, हनीफ खान सोनू सुरेंदर श्रीभगवान शौकीन आजादसिंह सुरेश मैडम मोनिका राणा सुषमा राजरानी धीरसिंह मुकेश यशपाल मुकेश करणसिंह अशोक लाम्बा जयपाल नरेश वीरेंदर त्यागी शेरसिंह कृष्ण कुमार जिलेसिंह दीपेश बिसनदेव पवन आदि सौंकड़ों कर्मचारियों ने मौजूद रहकर अधिकारियों के इस तानाशाह रविये से खफा होकर जोरदार नारेबाजी की व अपने साथियों की बहाली के लिये लामबन्द होकर विरोध प्रदर्शन किया ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here