पटौदी उपमंडल में छाया सन्नाटा, सड़के दिखी सुनसान।

0
277

पटोदी (गुरुग्राम), 12 अप्रैल – गुरुग्राम जिला के पटौदी उपमंडल मे आज चहुंओर सड़कों पर सन्नाटा पसरा दिखाई दिया और लोग अपने घरों के भीतर ही रहे। ऐसा लग रहा था मानो कर्फ्यू लग गया हो।पटोदी उपमंडल में पड़ने वाले शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्रों में आज रविवार होने के बावजूद लॉक डाउन का काफी असर दिखाई दिया। पटौदी के एसडीएम राजेश कुमार के अनुसार उपमंडल में 110 गांव है और सभी में लॉक डाउन का पालन करने की जिम्मेदारी ग्राम पंचायतों ने संभाल ली है। पंचायतों ने स्वयं अपने गांव के बाहर नाके लगा लिए हैं और वहां पर एक रजिस्टर में हर आने जाने वाले व्यक्ति का नाम लिखा जाता है। वह व्यक्ति यदि गांव का नहीं है तो किस से मिलने आया, क्या काम है और कब वापस जाएगा, यह सब रजिस्टर में इंद्राज किया जा रहा है।
एसडीएम राजेश कुमार ने बताया कि आज गांवों में ग्राम पंचायतों द्वारा मोर्चा संभालने तथा शहरी क्षेत्र में नाकों पर सख्ती बरतने के कारण पटौदी शहर में लोगों का आवागमन आम दिनों की अपेक्षा 70 से 80 प्रतिशत तक कम रहा। केवल मेडिकल इमरजेंसी वाले लोग ही शहर में आए। उन्होंने कहा कि किरयाना के सामान के लिए किसी व्यक्ति को गांव से शहर आने की आवश्यकता नहीं है। जिस गांव में किरयाना का सामान उपलब्ध नहीं होगा वहां पर वह सामान प्रशासन द्वारा पहुंचाया जाएगा।
उन्होंने बताया कि जहां एक ओर ग्रामीण क्षेत्र में ग्राम पंचायतों ने अपने गांव की नाकेबंदी की, वहीं दूसरी ओर पटौदी उपमंडल के शहरी क्षेत्रों जैसे पटोदी, हेली मंडी तथा फरुखनगर में पुलिस द्वारा लगभग 15 नाके लगाए गए हैं। यहां पर भी सभी नाको पर आने जाने वाले लोगों का रिकॉर्ड रखा जा रहा है। उनके नाम, पता, घर से बाहर आने का उद्देश्य तथा वापसी का समय आदि का इंद्राज रजिस्टर में किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जो लोग बिना उद्देश्य के, बेवजह, यूं ही शहर में फालतू में घूमने आ रहे हैं, उनकी पहचान करके उन्हें होम क्वॉरेंटाइन किया जाएगा।
एसडीएम ने कहा कि जिलाधीश अमित खत्री द्वारा लगाए गए ड्यूटी मजिस्ट्रेटो के अलावा वे स्वयं भी विभिन्न इलाकों में जाकर निरीक्षण कर रहे हैं और पूरे पटौदी उपमंडल में लॉक डाउन को प्रभावी ढंग से लागू किया जा रहा है ताकि कोरोनावायरस संक्रमण के और फैलाव को रोका जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here