महिला एवं बाल विकास विभाग के द्वारा चलाई जा रही योजनाओं की समीक्षा की गई

0
164

पलवल। उपायुक्त नरेश नरवाल के अध्यक्षता में गत दिवस जिला सचिवालय के सभागार में महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं की समीक्षा की गई। समीक्षा बैठक में उपायुक्त नरेश नरवाल ने बेटी बचाओ-बेटी पढाओ योजना के तहत सार्वजनिक स्थानों पर ड्राप बॉक्स, सुझाव, शिकायत पेटी लगाने, आंगनवाडी केन्द्रों, स्वास्थ्य केन्द्रों व ग्राम सचिवालयों पर गुड्डा-गुड्डी बोर्ड लगाने के निर्देश दिए। उन्होंने बेटी बचाओं-बेटी पढाओ पर स्लोगन, सफलता कहानियां व अधिक व कम लिंगानुपात वाले गांवों के नाम का प्रसारण स्थानीय चैनलों पर करने बारे, सरकारी अस्पताल में जन्मी बच्चियों की माताओं को सम्मानित करने, जिस घर में केवल लड़कियां है उनके घर के बाहर बेटी के नाम से नेम प्लेट लगाने व गरीब परिवार के बेटियों के लिए उन्हें आर्थिक रूप से सक्षम बनाने के लिए स्वरोजगार कार्यक्रम चलाने की स्वीकृति प्रदान की गई। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग पलवल के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे जिला पलवल में सभी गांवो के लिंगानुपात की रिपोर्ट नियमित रूप से महिला एवं बाल विकास विभाग के साथ सांझा करें ताकि कम लिंगानुपात वाले गांवो में बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना के तहत विभिन्न गतिविधिया की जा सकें। बैठक में उपायुक्त ने विभाग की ओर से चलाई जा रही योजनाओं व उनके क्रियान्वन पर संतुष्टि व्यक्त की। इस अवसर पर महिला एवं बाल विकास विभाग पलवल की जिला कार्यक्रम अधिकारी मिनाक्षी चौधरी ने बताया कि जिला पलवल में महिला एवं बाल विकास के अंतर्गत विभिन्न परियोजनाए क्रियान्वित है, जिसमे मुख्य रूप से समेकित बाल विकास योजना के अंतर्गत जिला पलवल में मुख्यमंत्री द्वारा की गई घोषणा के अंतर्गत प्रथम चरण में 50 आंगनवाडी केन्द्रों को प्ले स्कूल में परिवर्तित किया जा रहा है। इनमें 3 आंगनवाडी सुपरवाइजर व एक डाइट प्रतिनिधि का प्रशिक्षण पूरा होने के उपरांत उनके द्वारा 7 दिसंबर 2020 से 23 दिसंबर 2020 तक अभ्यास कक्षाएं ली जा रहीं है। जिला कार्यक्रम अधिकारी ने बताया कि आपकी बेटी-हमारी बेटी स्कीम के तहत योजना के अब तक 4560 लाभार्थियों को 9 करोड़ 57 लाख 60 हजार रुपए व वित्त वर्ष 2020-21 में 959 लाभार्थियों को 2 करोड़ 13 लाख 9 हजार रुपए का लाभ एलआर्ईसी के माध्यम से लाभार्थियों को दिया जा चुका है। प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के तहत वर्ष 2020-21 में 2615 लाभार्थियों को 1 करोड़ 23 लाख 95 हजार रुपए व योजना की शुरुआत वर्ष 2017 से लेकर अभी तक 4560 लाभार्थियों को 5 करोड़ 84 लाख 38 हजार रुपए का लाभ डीबीटी के माध्यम से सीधा लाभार्थियों को उनके खातों में दिया जा चुका है। बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त, सतेंद्र दूहन, नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी अमित, एसडीएम होडल संदीप अग्रवाल, हथीन एसडीएम वकील अहमद, नगराधीश दिनेश कुमार, जिला राजस्व अधिकारी रामफल कटारिया, डीडीपीओ शमशेर सिंह नेहरा, जिला शिक्षा अधिकारी अशोक बघेल, कार्यकारी अभियंता लोक निर्माण विभाग सुरेंद्र, पंचायती राज के कार्यकारी अभियंता सुदेश कुमार, मुख्यमंत्री के सुशासन सहयोगी अर्चित वाट्स, जिला खेल अधिकारी मैरी मसीह, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग पलवल मीनाक्षी चौधरी, जिला सूचना एवं विज्ञान अधिकारी डी.पी. कुलश्रेष्ठï, सहित अन्य संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here