पार्षद की शह पर हो रहा है पुनर्वास विभाग की जमीन पर कब्जा

0
428

फरीदाबाद: एकतरफ जहां मुख्यमंत्री मनोहर लाल प्रदेश से भ्रष्टाचार का खात्मा करने के लिए नित-नई पारदर्शी प्रणालियों को लागू कर रहे है वहीं दूसरी ओर फरीदाबाद में उन्हीं की पार्टी के जनप्रतिनिधि अवैध निर्माण कर्ताओं को संरक्षण देकर मुख्यमंत्री की इस पहल को पलीता लगाने में लगे हुए है। ऐसा ही एक वाक्या वार्ड नंबर-11 के अंतर्गत आने वाले अनाज गोदाम वाले रोड पर देखने को मिल रहा है, जहां सरकारी जमीन पर सभी आदेशों की अवहेलना करते हुए सरेआम अवैध निर्माण चल रहा है। बताया जाता है कि इस अवैध निर्माण को एक पार्षद व उसके भाई का पूरा संरक्षण हासिल है। हैरानी की बात तो यह है कि तहसीलदार द्वारा जांच में इस जमीन को सरकारी बताया गया है और इस पर किसी तरह के निर्माण पर कार्यवाही कानूनी का प्रावधान है, इसके बावजूद थाना कोतवाली पुलिस ने शिकायत मिलने के दो दिन बीतने के बाद अभी तक कोई कदम नहीं उठाया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार एन.एच.-2एफ/41 निवासी महिंद्र ठक्कर ने थाना कोतवाली पुलिस में शिकायत दी कि वह अपना ढाबा एसएसआई प्लाट नंबर 4 निकट महावीर कम्युनिटी सेंटर और विपरीत अनाज गोदाम पर चलाता है। उसके ढाबे वाली जमीन के पीछे की जमीन देवकी मेहंदीरत्ता नामक व्यक्ति एवं उसके अन्य तीन साथियों की है और इन लोगों ने यह जगह लगभग 5 महीने पहले ही खरीदी है। हम दोनों की जमीनों के साथ पुनर्वास विभाग की जमीन सडक़ की तरफ लगती है। शुरु से ही देवकी मेहंदीरत्ता और उसके भागीदार हमारे साथ लगने वाली सरकारी जमीन को हड़पना चाहते हैं और उस पर अपना कब्जा जमाना चाहते हैं, इसी के चलते वे आए दिन गौरव और अमन नामक अपने साथियों के साथ किसी न किसी बहाने मेरे व मेरे बच्चों के साथ गाली गलौच, मारपीट करते हैं और अपनी राजनीतिक पहुंच बताते हुए जान से मारने की धमकी तक दे डालते हैं। मैं एक न्याय पसंद व जागरुक नागरिक की हैसियत से किसी कीमत पर उन्हें सरकारी जमीन पर कब्जा नहीं कर देना चाहता, जिसके लिए मुझे आए दिन उनकी बर्बरता व रसूख के चलते तकलीफ उठानी पड़ रही है। 24 दिसंबर को उपरोक्त लोगों ने सरकारी जमीन पर कब्जा करने के लिए दीवारें चिनते हुए दरवाजा लगाना शुरु कर दिया था, जिसके लिए उसने पुनर्वास विभा के अधिकारियों के साथ-साथ पुलिस चौकी नंबर दो में भी शिकायत की, लेकिन उक्त शिकायतों के बाद भी प्रशासनिक सांठगांठ के चलते कोई कार्यवाही नहीं हुई। उन्होंने पुलिस प्रशासन से मांग की कि वह इस मामले की त्वरित कार्यवाही करते हुए अवैध कब्जाधारियों पर कार्यवाही करें। वहीं इस बारे में जब थाना कोतवाली प्रभारी भारतभूषण से बात की गई तो उनका कहना था कि इस मामले में शनिवार को केस दर्ज कर दिया जाएगा, फिलहाल आईओ मौका मुआयना करने गया है, उसके बाद रिपोर्ट तैयार की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here