पलवल में किया गया पौधारोपण

0
283

 

पलवल: एक पुण्य धरती है यह भगवान श्री कृष्ण की चौरासी कोस परिक्रमा का संभाग है। आध्यात्मिक दृष्टिकोण से यह बहुत पवित्र भूमि है यह वक्तव्य रविवार को फरीदाबाद की आयुक्त जी अनुपमा ने टहरकी गांव में आरोग्य वन महोत्सव के उत्सव के दौरान लोगों को संबोधित करते हुए कहे।
आयुक्त डॉक्टर जी अनुपमा ने टहरकी मैं स्थित आरोग्यं मैं पौधारोपण के उपरांत लोगों को संबोधित कर रही थी ।इस अवसर पर उनके साथ उपायुक्त यशपाल भी मुख्य रूप से उपस्थित थे।
आयुक्त जी अनुपमा ने कहा कि पूरे विश्व में हमारा देश आयुर्वेद के रूप में जाना जाता है इसी आयुर्वेद को जीवित रखने के लिए आरोग्यं में अलग अलग प्रकार के वृक्ष लगाए जा रहे हैं उन्होंने कहा कि इसमें लगे हुए पौधों से काफी औषधि जनता को प्राप्त होगी ।उन्होंने कहा कि प्राचीन संस्कृति अपनी जगह व आधुनिक विज्ञान अपनी जगह है आज दोनों इस तरह साथ चलने चाहिए जिस तरह गाड़ी के दो पहिए ,प्राचीन सभ्यता के साथ विज्ञान भी बहुत जरूरी है क्योंकि विज्ञान से हम सभी जुड़े हुए हैं आयुक्त ने कहा कि वन महोत्सव के दौरान ग्राम पंचायत की 5 एकड़ जमीन पर जन जागरूकता के लिए नौ ग्रह वाटिका जैसे नक्षत्र वाटिका, राशि वाटिका ,गो वन, महावन, तपोवन ,व श्रीवन लगाए जा रहे हैं ।
उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि हर व्यक्ति एक वृक्ष जरूर लगाएं और लगाने के साथ-साथ उसकी सेवा भी करें। अगर हम सब ने ऐसा नहीं किया तो आगामी कुछ दिनों में जमीन का पानी समाप्त हो जाएगा जिससे कि हमारी आने वाली पीढ़ी का भविष्य खतरे में पड़ जाएगा, इसलिए हम सबको अपने आने वाली पीढ़ियों का भविष्य सुखमय बनाने के लिए ज्यादा से ज्यादा वृक्ष लगाने चाहिए ।उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जल शक्ति अभियान पूरे देश में चलाया हुआ है जिसके दौरान हम सभी को जल संरक्षण पर भी ध्यान देना होगा भवानी जो हड़ों को खोदकर उसे और गहरा करें ताकि बरसात का एक बूंद पानी भी खराब ना जाए ।जिससे कि पानी का स्तर ठीक रहेगा। उन्होंने आरोग्यं के कार्यकर्ताओं व अधिकारियों से आह्वान किया कि सरकार व प्रशासन उनकी हर तरह से मदद को तैयार है ।उन्होंने कहा कि वह इस मुहिम को एक गांव तक सीमित न रखकर देहात की तरफ और बढ़ाएं जिससे कि वहां के लोगों में एक जागरूकता उत्पन्न हो ।
उपायुक्त यशपाल ने आयुक्त जी अनुपमा का स्वागत करते हुए कहा कि हरियाणा के मुख्यमंत्री के आदेश पर पूरे प्रदेश में पौधागिरी अभियान चलाया जा रहा है ।इसी मुहिम में टहरकी मे यह बहुत अच्छी पहल है। उपायुक्त ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि हमें जल शक्ति अभियान के तहत पानी को बचाने की मुहिम तेज करनी चाहिए जिससे हमारे गांव से जो भी नालियां निकल गई है उनको किसी जोहड़ में ही डालना चाहिए ,उन्होंने वाटर हार्वेस्टिंग, सोख्ता गड्ढा आदि के बारे में भी लोगों को अवगत कराया। उन्होंने गांव के सरपंच करमचंद को भी कहा कि पंचायत की जो जमीन पड़ी है उसमें ज्यादा से ज्यादा वृक्षारोपण करवाएं ।
इस अवसर पर आचार्य सुनील व उनकी पत्नी मानसी जो यहां पर दिन रात रहकर इस आरोग्यं को आगे बढ़ा रहे हैं ।आचार्य सुनील ने भी आए हुए अतिथियों का स्वागत करते हुए आरोग्यं के बारे में लोगों को जानकारी दी। उन्होंने कहा कि यहां पर तीन कार्यों का मूल आधार शक्ति है एक हरा भरा जंगल जिसमें विभिन्न प्रकार की औषधियां जड़ी बूटियों और फलदायक घने वृक्ष लगे हो। इसी प्रकार डॉक्टर शिव नाथ मिश्रा जिनको पेड़ बाबा के नाम से भी जाना जाता है उन्होंने भी कुछ ऐसे वृक्षों के बारे में बताया कि जिनको लगाने से बरसात अधिक होगी और पानी का स्तर भी बेहतर रहेगा।
इस अवसर पर राजेश ओझा, विवेक शर्मा, विनय सेवल, विश्वास मखीजा ,सुबोध गुप्ता, अनुज अग्रवाल के अलावा अन्य कई गांवों के पंच सरपंच मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here