पर्यावरण को बचाने के लिए शिविर लगाकर लोगो को किया गया जागरूक |

0
311

 

फरीदाबाद,। मुख्य सचिव हरियाणा सरकार केशनी आनंद अरोड़ा ने सभी जिला उपायुक्तों को निर्देश दिए कि वे पर्यावरण को बचाने के लिए फसल अवशेषों का प्रबंधन करवाना और कोई किसान फसल अवशेषों को खेतों में न जलाएं, इसके लिए किसानों को शिविर लगाकर जागरूक करना सुनिश्चित करें।
मुख्य सचिव केशनी आनन्द अरोङा गत दिवस वीडियो कांफ्रैसिंग के माध्यम से चंडीगढ़ मुख्यालय से फसल अवशेष प्रबंधन की समीक्षा कर रही थी। उन्होंने कहा कि धान की फसल के कटाव के बाद कोई किसान अपने खेत में उनके अवशेष न जलाएं इसके लिए गांव-गांव जाकर कृषि विभाग तथा पंचायत विभाग के अधिकारी व कर्मचारी किसानों को जागरूक करें। फसल अवशेषों में आग लगाने से होने वाले दुष्प्रभावों के बारे में अधिक से अधिक लोगों को जानकारी दें। उन्होंने प्रदेश के सभी उपायुक्तों से किसानों को जागरूक करने के लिए किए गए कार्यों की समीक्षा करके आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।
मुख्य सचिव ने कहा कि संवेदनशील इलाकों में नजर रखी जाए, फसल अवशेषों को जलाने से पर्यावरण में हवा जहरीली हो जाती है, जिसका संबंध मानव स्वास्थ्य से है। उन्होंने सभी उपायुक्तों को कहा कि आगामी 4 अक्तूबर तक जागरूकता पखवाड़े का आयोजन किया जाए। ताकि धरातल पर लोगों को जागरूक किया जा सके।
ईपीसीए के चेयरमैन डॉ भूरे लाल ने दिल्ली से विडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से पर्यावरण को बचाने के लिए प्लास्टिक को जलाएं ना, प्रबंधन करें । चेयरमैन डा. भूरे लाल ने पर्यावरण को प्रदूषित होने से बचाने के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्लास्टिक को न जलाया जाए, प्लास्टिक के जलने से काला धुआं निकलता है, यह धुआं पर्यावरण को दूषित करता है, जोकि मानव स्वास्थ्य के लिए बेहद हानिकारक है। उन्होंने सभी उपायुक्तों को निर्देश दिए कि वे त्यौहारों व शादियों में आतिशबाजी, भट्टों की चिमनियों से निकलने वाले धुएं पर नियंत्रण करें।
फरीदाबाद मंडल आयुक्त डॉ अनुपमा तथा उपायुक्त अतुल द्विवेदी ने जिला में फसलों के अवशेष प्रबंधन के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि कृषि विभाग के अधिकारियों द्वारा किसानों को जागरूक किया जा रहा है। फसलों के शेष बचे अवशेषों को प्रबंधन मशीनों द्वारा किया जा रहा है, जिला में जागरूकता मोबाईल वैन चलाई जा रही है जोकि गांव-गांव जाकर लोगों को जागरूक कर रही हैं। उन्होंने बताया कि जिला में सीएचसी के माध्यम से छोटे किसान फसल प्रबंधन की मशीनों को किराए पर लेकर अवशेषों का प्रबंधन कर रहे हैं।
नगर निगम की आयुक्त सोनल गोयल एमसीएफ के अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा पर्यावरण को शुद्ध बनाए रखने के लिए चलाए जा रहे जागरूकता अभियान के बारे में जानकारी दी। उप निदेशक कृषि एवं किसान कल्याण विभाग डा. ने भी फसल अवशेष प्रबंधन के बारे में जानकारी दी। प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड के आरओ ने फरीदाबाद जिला के उद्योगिक इलाके में चलाई जा रही गतिविधियों बारे बताया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here