पाकिस्तान को मिली एशिया कप की मेजबानी। क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड का ऐतराज

0
404

नई दिल्ली : सितंबर 2020 में होने वाले एशिया कप की मेजबानी पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को मिली है। बीसीसीआई ने पाकिस्तान से कहा है वह इस टूर्नमेंट के आयोजन स्थल में बदलाव करे। गुरुवार को ढाका में एशियन क्रिकेट काउंसिल की बैठक में बीसीसीआई द्वारा यह संदेश पाकिस्तान को दे दिया गया है। भारत को एशिया कप 2018 की मेजबानी मिली थी लेकिन इसे बाद में यूएई शिफ्ट किया गया। अब पाकिस्तान से भी इसके लिए कहा जा रहा है। एक सूत्र ने हमारे सहयोगी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया, ‘पाकिस्तान में जाकर खेलने का तो सवाल ही नहीं उठता। ऐसे में मेजबान देश को वैकल्पिक इंतजाम करने को कहा गया है।’ भारत और पाकिस्तान के खराब संबंधों के चलते ही एशिया कप 2018 का आयोजन भारत से यूएई शिफ्ट किए गए हैं। ऐसे में लग रहा है कि 2020 का टूर्नमेंट में भी यूएई में खेला जाएगा।

आधिकारिक तौर पर पाकिस्तान यह कह रहा है कि उसके देश में क्रिकेट खेलना सुरक्षित है। हालांकि टूर्नमेंट की शुरुआत में अभी काफी वक्त है और पाकिस्तान को हालात में सुधार होने की उम्मीद है। लेकिन दूसरी ओर भारत भी झुकने के लिए तैयार नहीं है। पाकिस्तान को आखिरकार बीसीसीआई की मांग के सामने झुकना पड़ सकता है। इससे पहले, बीसीसीआई ने ‘सुरक्षा कारणों’ से एसीसी की एजीएम के लिए लाहौर में अपना प्रतिनिधि भेजने से इंकार कर दिया था।

इससे पहले, ढाका में हुई एशिया क्रिकेट काउंसिल की बैठक में इस पर फैसला लिया गया कि एशिया कप की मेजबानी पाकिस्तान को दी जाए। एसीसी के अध्यक्ष नजमुल हसन ने कहा, ‘2020 एशिया कप पाकिस्तान में होगा। चूंकि वह मेजबान हैं इसलिए इसका आयोजन कहां करना है वह हमें बताएंगे।’

माना जा रहा है कि पीसीबी इसका आयोजन यूएई में करवा सकता है। साल 2009 में श्री लंकाई टीम पर हुए हमले के बाद से पाकिस्तान अपने घरेलू मुकाबले यूएई में खेल रहा है। हाल ही में दुबई और अबु धाबी में एशिया कप 2018 का आयोजन करवाया गया था। ऐसे में इस बात की संभावनाएं काफी बढ़ गई हैं कि अगला संस्करण भी यहां खेला जा सकता है।

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने बीसीसीआई पर 70 मिलियन अमेरिकी डॉलर का मुकदमा भी दायर किया था। पीसीबी का आरोप था कि भारत ने 2014 में दोनों बोर्ड के बीच हुए एमओयू का उल्लंघन किया है जिसमें 2015 से 2023 तक दोनों देशों के बीच छह द्विपक्षीय सीरीज खेली जानी थीं।

भारत और पाकिस्तान के बीच राजनीतिक और क्रिकेटीय संबंध अच्छे नहीं हैं। दोनों देशों के बीच आखिरी बार द्विपक्षीय सीरीज 2012-13 में खेली गई थी। इसके बाद से भारत-पाक सिर्फ क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय टूर्नमेंट्स में ही आमने-सामने होते हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here