विश्व मधुमेह दिवस के अवसर पर एम वी एन विश्वविद्यालय द्वारा स्वास्थ्य शिविर का आयोजन

0
480

 

फरीदाबाद :   15 नवम्बर को एम वी एन विश्वविद्यालय के तत्वाधान में स्कूल ऑफ फार्मास्यूटिकल साइंसेज द्वारा कलसाडा (हथीन) में निःशुल्क स्वास्थ्य एवं परीक्षण शिविर का आयोजन किया।विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो (डॉ) जे.वी देसाई ने बताया कि हमारा शरीर  खाए हुए खाने में उपलब्ध कार्बोहाइड्रेट को तोड़कर ग्लूकोस में बदलता है, जब हमारा शरीर खून में मौजूद ग्लूकोज की मात्रा को सोखने में असमर्थ हो जाता है, उस स्थिति को मधुमेह कहते हैं। वहीं विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार दुनिया भर में इस समय 42.2 करोड लोग मधुमेह से पीड़ित हैं। मधुमेह से दिल का दौरा और हृदयाघात हो सकता है।

कुलसचिव डॉ राजीव रतन ने बताया कि स्वास्थ्य एवं परीक्षण शिविर का लाभ 220 लोगों ने लिया और उनको निःशुल्क दवाईयां गई और आम लोगों में इस बीमारी के लक्षण , कारण व बचाव के बारे में जानकारी दी।

 

इस अवसर पर शिविर में उपस्थित डॉ तरनजीत सिंह, डॉ ज्योति गुप्ता ने बताया कि आजकल की प्रमुख समस्या मधुमेह की बढ़ती संख्या है,डायबिटीज के कई प्रकार होते हैं लेकिन टाइप 1, टाइप 2 और गेसटेशनल डायबिटीज से जुड़े मामले अधिक आते हैं। ज्यादा प्यास लगना, सामान्य से अधिक पेशाब आना विशेषकर रात में, ज्यादा थकान महसूस होना, मुंह में अक्सर छाले होना, घाव के बारे में समय लगना आदि मधुमेह के लक्षण हैं।

इस अवसर पर फार्मेसी विभाग के विभागाध्यक्ष तरुण विरमानी ने बताया कि हम दैनिक जीवन में 30 मिनट सुबह शाम पैदल चलें, कम से कम 4लीटर पानी पिए और संतुलित आहार,  व्यायाम ओमेगा 3 वाले आहार जैसे बादाम अलसी के बीज आदि व दूध दही का सेवन नियमित रूप से करें जिससे मधुमेह से राहत मिलेगी।

इस अवसर पर रिशू विरमानी, ज्योत्सना, धरमवीर शर्मा, वीना चौधरी, सुभाष, श्याम, जोगिंदर, सुरेन्द्र, लालचंद, मनोज, रवि आदि लोगों ने अपना अपना श्रम प्रदान किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here