आपका एक आइडिया, हो सकता है गुरूग्राम में बेहतरी लाने में कारगर

0
164

गुरूग्राम, 11 दिसंबर। आपका एक आइडिया गुरूग्राम की बेहतरी के लिए कारगर सिद्ध हो सकता है और आप अपने इस नए आइडिया को ‘सोच गुरूग्राम’ नामक पोर्टल पर सांझा कर सकते हैं, जिसे आज उपायुक्त अमित खत्री ने गुरूग्राम के लोक निर्माण विश्रामगृह में आयोजित एक सादे कार्यक्रम में लाॅंच किया है। हम सदैव अपने देश और प्रदेश व शहर की उन्नति और अच्छी गवर्नेंस में योगदान देना चाहते हैं। हम अपने कार्यों से ही नहीं अपितु विचारों अर्थात् आइडियाज के माध्यम से अंतर लाने के लिए तत्पर रहते हैं लेकिन इसके लिए कोई प्लेटफार्म या माध्यम नहीं मिलता। अब गुरूग्रामवासियों को ‘सोच गुरूग्राम’ नामक अनुठी पहल से वह प्लेटफार्म मिलेगा जिस पर आप गुरूग्राम में तकनीक के प्रयोग से गवर्नेंस में सुधार लाने या अपने शहर को सुंदर बनाने, यहां पर बेहत्तर सुविधाएं सृजित करने आदि के लिए योगदान दे सकते हैं। आप अपने आइडिया www.sochgurugram.in पर अपलोड करें। इस नए पोर्टल का आज उपायुक्त अमित खत्री ने शुभारंभ किया है। शुभारंभ अवसर पर उन्होंने बताया कि कोई भी जिलावासी गुरूग्राम की बेहतरी के लिए अपने नए आइडिया इस पोर्टल पर अपलोड कर सकता है। ये आइडिया पर्यावरण को साफ रखने, प्रभावी व बेहतर पुलिस व्यवस्था, सबके लिए शिक्षा, बेहतर गवर्नेंस के लिए तकनीक का प्रयोग, खेल सुविधाएं बढाने, बेहतर टैªफिक प्रबंधन, रोजगार के अवसर सृजित करने तथा कचरे व पानी का बेहत्तर प्रबंधन आदि के क्षेत्रों में हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि सोच गुरूग्राम पोर्टल का उद्देश्य यह है कि नागरिकों के अच्छे आइडिया जिला प्रशासन को मिले और प्रशासन व नागरिक मिलकर उन विचारों अथवा आइडियाज को लागू करके सभी के लिए अच्छी व्यवस्था कायम कर सकें। उन्होंने बताया कि प्रशासन को विभिन्न सरकारी विभागों के अधिकारियों के माध्यम से व्यवस्था सुधार के लिए आइडियाज अर्थात् विचार व सुझाव प्राप्त होते रहते हैं और उसके लिए विभिन्न प्लेटफार्म उपलब्ध हैं। लेकिन आम जनता में भी ऐसे लोग हैं जो अलग-अलग क्षेत्र में विशेषज्ञता रखते हैं। ऐसे लोगों की विशेषज्ञता का लाभ प्राप्त करना ही इस पोर्टल का उद्देश्य है। उन्होंने स्पष्ट किया कि कोई भी व्यक्ति इस पोर्टल पर शिकायत, मांग या समस्या ना डाले क्यांेकि इन कार्यों के लिए पहले ही दूसरे प्लेटफार्म उपलब्ध हैं। शुभारंभ अवसर पर मीडिया प्रतिनिधियों के साथ बातचीत करते हुए श्री खत्री ने कहा कि पोर्टल पर प्राप्त होने वाले नए आइडियाज का नागरिको में से चयनित विशेषज्ञों की अलग-अलग टीमें अध्ययन करेंगी। फिलहाल विभिन्न कंपनियों में कार्यरत 7-8 विशेषज्ञों को जोड़ा गया है और आवश्कतानुसार इनकी संख्या बढाई जा सकती है। उन्होंने बताया कि आइडिया यदि क्रियान्वित होने लायक होगा तो ही उसे जिला प्रशासन के पास क्रियान्वयन के लिए अग्रेषित किया जाएगा और आइडिया देने वाला व्यक्ति शुरू से लेकर क्रियान्वयन होने तक पूरी यात्रा का हिस्सा रहेगा। आइडिया देने के साथ उसे यह भी बताना होगा कि उसे कैसे क्रियान्वित किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि यदि शिकायत या मांग होगी तो उसे शुरू में ही रिजेक्ट कर दिया जाएगा। श्री खत्री ने कहा कि गुरूग्राम देश और हरियाणा प्रदेश में मिलेनियम सिटी के नाम से विख्यात है और यहां पर विश्व की बहुत सारी मल्टीनेशनल कंपनियां कार्यरत हैं। विश्व की फोरच्यून-500 कपंनियों में से अधिकत्तर के काॅर्पोरेट कार्यालय गुरूग्राम में स्थापित हैं। ऐसे में गुरूग्राम में स्मृद्ध भौतिक संपदा उपलब्ध है, बहुत सारे प्रोफेशनल लोग यहां रहते व काम करते हैं, हमें गुरूग्राम की बेहत्तरी के लिए उनकी क्षमता का लाभ लेना है। उन्होंने आशा जताई कि सोच गुरूग्राम पोर्टल से हम गुरूग्रामवासियों के नए आइडियाज की पाॅवर का लाभ लेते हुए आम जनता को बेहतर सुविधाएं मुहैया करवाने में सफल होंगे|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here