अल्सर की बीमारी ठीक करता है नीम

0
299

 

नीम किसी औषधि से कम नहीं है और कई बीमारियों के इलाज में इसका इस्तेमाल किया जाता है। किसी को चिकनपॉक्स निकल आए, तो उसे नीम के पत्ते गरम पानी में डालकर नहलाया जाता है बल्कि उसके बिस्तर के आसपास भी नीम की पत्तियां रखी जाती हैं।
नीम की पत्तियां कील-मुंहासे और फोड़े-फुंसियों के इलाज में भी सहायक होती है। कुल मिलाकर देखा जाए तो नीम में एक रामबाण इलाज छिपा है। अगर आप हर दिन सुबह नीम की महज 4 पत्तियां भी चबाएं तो मुंह की देखभाल की जा सकती है। नीम की छाल का उपयोग मलेरिया, पेट और अल्सर, त्वचा रोग, दर्द और बुखार के लिए किया जाता है। इसके अलावा इसका इस्तेमाल कुष्ठ रोग, नेत्र विकार, नकसीर, आंतों के कीड़े, पेट की खराबी, भूख न लगना, हृदय रोग, बुखार, मधुमेह, मसूड़ों की बीमारी के लिए किया जाता है।

नीम की जड़ या पत्ते का अर्क त्वचा पर लगाने से काली मक्खियों को हटाने में मदद मिलती है। अगर अल्सर से पीड़ित हैं तो इसके लिए नीम की छाल का 30-60 मिलीग्राम अर्क 10 हफ्ते तक दिन में दो बार लें। इससे पेट और आंतों के अल्सर को ठीक किया जा सकता है। लेकिन इसका प्रयोग करने से पहले आयुर्वेदिक चिकित्सक की सलाह जरूर लें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here