नरेंद्र मोदी गुरूग्राम स्थित सुलतानपुर में आयोजित जनसभा में रिमोर्ट से रखेंगे आधारशिला

0
396

 

पलवल। देश के नरेंद्र मोदी 19 नवंबर को गांव दुधौला में बनने वाले श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय की गुरूग्राम स्थित सुलतानपुर में आयोजित जनसभा से रिमोर्ट से आधारशिला रखेंगे। इस शिलान्यास कार्यक्रम का सीधा प्रसारण विश्वविद्यालय स्थल पर दिखाया जाएगा। श्रमेव जयते की अवधारणा पर आधारित यह देश का पहला ऐसा विश्वविद्यालय होगा, जिसमें कौशल विकास के डिप्लोमा व डिग्री कोर्स होंगे।

मुख्यमंत्री के राजनैतिक सचिव श्री दीपक मंगला ने जारी प्रैस बयान में बताया कि श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय न केवल पलवल अपितु हरियाणा के विकास के लिए मील का पत्थर साबित होगा। इस विश्वविद्यालय पढऩे वाले बच्चों को पढ़ाई के तुरंत बाद ही रोजगार के अवसर मिल जाएंगे या फिर वे स्वरोजगार अपनाने में सक्षम बन जाएंगे। यह विश्वविद्यालय गरीबी उन्मूलन की दिशा में भी अपनी अहम भूमिका निभाएगा। उन्होंने बताया कि इस विश्वविद्यालय में डिप्लोमा व डिग्री कोर्सों के माध्यम से हजारों बच्चों को प्रति वर्ष किसी न किसी विधा में हुनरमंद होने का सुनहरे अवसर मिलेंगे। पलवल जिला को इस विश्वविद्यालय का सबसे अधिक फायदा मिलेगा तथा यहां के बच्चे आसानी से रोजगारपरक कोर्स कर सकेंगे। उन्होंने बताया कि यह विश्वविद्यालय प्रधानमंत्री के युवा कौशल विकास के दृष्टिकोण को भी आगे बढ़ाएगा तथा मौजूदा दौर में उद्योगों में बढ़ती नौकरी व कौशल की मांगों के अनुरूप योग्यता कार्यक्रम प्रदान करेगा। उन्होंने बताया कि इस विश्वविद्यालय की पूरी परियोजना पर लगभग 960 करोड़ रुपये की राशि खर्च की जाएगी। विभिन्न संकायों में यहां 12 हजार बच्चों के पढऩे की सुविधा होगी।

उन्होंने बताया कि गांव दुधौला में विश्वविद्यालय का कैंपस 82.7 एकड़ भूमि में विकसित किया जाएगा। इस विश्वविद्यालय की कैंपस बिल्डिंग के निर्माण के लिए इस वर्ष 389.24 करोड़ रुपये के टैंडर किए जा चुके है। इस विश्वविद्यालय का निर्माण तीन चरणों मे करवाया जाएगा। पहले चरण का कार्य वर्ष-2020 तक पूरा किए जाने की योजना है। उन्होंने बताया कि यहां एक हजार युवाओं को जीएसटी का प्रशिक्षण भी दिया जाएगा। अब तक विश्वविद्यालय में 139 युवाओं को पॉयलेट प्रोजेक्ट के तहत हिसार, रोहतक, गुरूग्राम, करनाल तथा सिरसा में ट्रैनिंग दी जा चुकी है। इसके अलावा विश्वविद्यालय द्वारा 68 छात्रों को उद्यमिता की ट्रैनिंग दी गई है, जबकि 30 छात्रों को जर्मन भाषा की ट्रैनिंग दी गई है। विश्वविद्यालय द्वारा 21 उद्योगों के साथ विभिन्न कोर्सिज के प्रशिक्षण के लिए एमओयू पर भी हस्ताक्षर किए गए हैं। गुरूग्राम जिला में युवाओं को साइबर सिक्योरिटी के साथ नेटवर्क सिक्योरिटी तथा एप्लीकेशन सिक्योरिटी की ट्रैनिंग दी गई है। समय की मांग के अनुरूप कम्युनिकेशन एंड लाइफ स्किल में वर्ष-2018 में अब तक गुरूग्राम, फरीदाबाद, धारूहेड़ा, बल्लभगढ़ व पलवल जिलों के 1072 युवाओं को प्रशिक्षित किया जा चुका है। सक्षम सर्टिफिकेशन प्रोग्राम के तहत अब तक 32 युवाओं को कम्युनिकेशन स्किल एंड पर्सनेल्टी डैव्लपमेंट में प्रशिक्षण दिया जा चुका है। इस विश्वविद्यालय में प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले युवाओं को 10 हजार रुपये तक का स्टाइफंड भी दिया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि इस विश्वविद्यालय के प्रस्तावित परिसर में एडमिनिस्ट्रेटिव ब्लॉक के अलावा, ऑडिटोरियम एंड कन्वेंशन सैंटर, कैफेटेरिया, सैंटर्स ऑफ एक्सीलेंस, टीचिंग एंड नॉन टीचिंग रैजिडेंशियल एरिया, लडक़ो व लड़कियों के अलग-2 हॉस्टल, शॉपिग सैंटर, हैल्थ सैंटर, कम्युनिटी सैंटर, स्टेडियम, जिमनेजियम, स्वीमिंग पूल, स्पोट्र्स एंड रीक्रिएशनल फैसिलिटी, फीडर स्कूल एंड कॉमन फैसिलिटी आदि बनाए जाने की योजना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here