जिला स्तरीय गीता महोत्सव 2019 के दूसरे दिन के कार्यक्रम में हथीन से विधायक प्रवीण डागर रहे मुख्य अतिथि

0
102

पलवल, 07 दिसंबर।श्रीमद्भगवदगीता जीवन में लोगों के अंदर जो अज्ञान रूपी अंधकार है उसे दूर करने का एक संदेश देती है। श्रीकृष्ण ने अर्जुन को उपदेश दिया कि हे अर्जुन तू कर्म कर फल की चिंता न कर।यहविचार शनिवार को हथीन विधानसभा क्षेत्र के विधायक प्रवीण डागर ने स्थानीय महात्मा गांधी सामुदायिक केंद्र एवं पंचायत भवन पलवल में चल रहे तीन दिवसीय गीता महोत्सव 2019 के दूसरे दिन के कार्यक्रमों के पहले सत्र में बतौर मुख्य अतिथि के रूप में कार्यक्रम को संबोधित करते हुए व्यक्त किए। विधायक प्रवीण डागर ने कहा कि गीता के सार को आत्मसात करने के साथ-साथ इसका अनुसरण कर अपने जीवन में भी उतारें। संस्कारों को युवा पीढी में सम्प्रेषित करें। समाज में फैली बुराईयों को दूर करने का प्रयास करें। समाज में एक अच्छी व्यवस्था स्थापित करने का संदेश देती है। गीता हमें अपने परिजनों, बुजुर्गो, महिलाओं, गुरूओं का सम्मान करने का संदेश देती है। प्रदेश सरकार समाज के उत्थान व कल्याण के लिए तत्परता से कार्य कर रही है।इससे पहले विधायक प्रवीण डागर ने विधिवत रूप से श्रीमद्भगवदगीता की पूजा अर्चना कर कार्यक्रम का शुभारंभ दीप प्रज्जवलित करके किया। उन्होंने कार्यक्रम स्थल पर विभिन्न विभागों व धार्मिक संस्थाओं द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी का गहनता से अवलोकन किया। इस अवसर पर एसडीएम हथीन ने कार्यक्रम के मुख्य अतिथि विधायक प्रवीण डागर को स्मृति चिन्ह भेट किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए हथीन के उपमंडल अधिकारी (ना.) वकील अहमद ने मुख्य अतिथि एवं हथीन विधानसभा क्षेत्र के विधायक प्रवीण डागर का स्वागत किया।हथीन के एसडीएम वकील अहमद ने कहा कि श्री वेदव्यास द्वारा रचित गीता अंतर्राष्टï्रीय स्तर का ग्रंथ है, भारतीय संस्कृति की आधारशिला है। गीता में 18 अध्याय तथा 700 श£ोक निहित है। गीता में हमारी भारतीय संस्कृति का सबसे बडा मूल्य धर्मिक सहषुण्ता उसका संदेश न केवल भारत बल्कि अंतर्राष्टï्रीय स्तर पर प्रत्येक देश व हर महाद्वीप में जहां भारतवासी मौजूद है और भारत की संस्कृति और भारत के भाईचारे से प्रेम करने वाले लोग गीता के ज्ञान से लाभान्वित हो रहे हैं।उन्होंने कहा कि भारत की संस्कृति के जो मूल्य थे उससे भारत सोने की चिडिया था, महानता के लिए भारत विश्व में प्रसिद्ध था। विगत कुछ वर्षो में उनका हस हुआ। हरियाणा सरकार हर वर्ष गीता महोत्सव के आयोजन के माध्यम से उन सभी मूल्यों को पुन: स्थापित करने का सुंदर प्रयास किया जा रहा है। प्रत्येक वर्ष वर्तमान सरकार गीता महोत्सव के आयोजन से जीवन मूल्यों तथा संस्कृति का पुर्नवास करने का प्रयास कर रही है, जिससे युवा पीढी सीख लें। उन्होंने कहा कि कुरूक्षेत्र के युद्ध में शोकग्रस्त अर्जुन जब अपने कर्तव्य से विमुख हुए तब श्रीकृष्ण ने उन्हें अधर्म के मार्ग पर चल रहे उनके परिजनों के विरूध शस्त्र उठाने और अधर्मियों का सर्वनाश करने के लिए गीता के उपदेश द्वारा ही प्रेरित किया। श्रीकृष्ण ने कहा कि हे अर्जुन तुम युद्ध करोगे तो श्री व यश प्राप्त होगा अगर कर्तव्य से विमुख रहे तो अपयश मिलेगा, तो ऐसे माहौल में भी उन्होंने कर्तव्य की प्राथमिकता को इंगित किया। अर्जुन जो शोकमग्र थे उनके शोक को तोडा और उन्होंने धर्म की स्थापना के लिए धनुष उठाया।इस अवसर पर सूचना जनसंपर्क एवं भाषा विभाग हरियाणा की भजन मंडली ने रसिया व पटका की प्रस्तुति दी। जिला बाल कल्याण परिषद द्वारा तैयार किए गए स्कूली बच्चों ने सोलो डांस, समूह नृत्य, श्रीकृष्ण महारास, कृष्ण अवतार जैसे भक्तिमय सांस्कृति कार्यक्रमों की शानदार प्रस्तुति दी। मंच का संचालन विष्णु गौड व डा. सम्पत ङ्क्षसह ने संयुक्त रूप से किया। कार्यक्रम में जिला सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी बिजेंद्र कुमार, तहसीलदार रोहताश, जिला शिक्षा अधिकारी अशोक बघेल, खंड शिक्षा अधिकारी सुखबीर सिंह सहित अनेक गणमान्य लोग एवं अधिकारीगण व स्कूली बच्चे उपस्थित रहे।
पलवल में चल रहे जिला स्तरीय गीता महोत्सव 2019 के पहले दिन अंतर्राष्टï्रीय स्तर पर फ्ल्यूट सिस्टर्स के नाम से प्रसिद्ध देवोप्रिया व शुचिस्मिता द्वारा बांसुरी वादन की प्रस्तुति आकर्षण का केंद्र रही। महात्मा गांधी सामुदायिक केंद्र एवं पंचायत भवन में शुक्रवार की देर सांय आयोजित सांस्कृतिक संध्या में बांसुरी वादन की प्रस्तुति ने कार्यक्रम की गरिमा को भव्य बना दिया। वहीं नुसरत खान के गु्रप ने श्रीकृष्ण सुदामा प्रसंग की नाट्य प्रस्तुति दी। कार्यक्रम के दौरान उपायुक्त यशपाल, एसडीएम होडल वत्सल वशिष्ठï, चीनी मिल के प्रबंध निदेशक जितेंद्र गर्ग, जिला शिक्षा अधिकारी अशोक बघेल, खंड शिक्षा अधिकारी सुखबीर सिंह, नगर परिषद पलवल के कार्यकारी अधिकारी डा. विजयपाल, उपनिदेशक कृषि डा. महावीर सिंह, जिला बाल कल्याण अधिकारी सुरेखा डागर, सहायक परियोजना अधिकारी नवीन शर्मा सहित न्यायिक सेवा व जिला प्रशासन के अधिकारीगण व गणमान्य लोग मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here