न्यायाधीश अशोक वर्मा ने किया पारिवारिक न्यायालय का शुभारंभ

0
449

 

पलवल। पारिवारिक मामलों का शीघ्र समाधान करने के लिए न्यायालय परिसर के प्रथम तल पर पारिवारिक न्यायालय का शुभारंभ जिला सत्र एवं न्यायाधीश अशोक वर्मा ने किया। अब जिला से संबंधित सभी पारिवारिक मामलों का निपटारा एक ही न्यायालय में होना संभव हो गया है। इस पारिवारिक न्यायालय की प्रधान न्यायाधीश डॉ सुनीता ग्रोवर को बनाया गया है।
जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने पारिवारिक न्यायालय का शुभारंभ करने के बाद बताया कि अब पलवल के अलावा होडल व हथीन से संबंधित पारिवारिक केसों का निपटारा भी इसी न्यायालय में होगा। इस पारिवारिक न्यायालय में सभी प्रकार के पारिवारिक मामले, हिन्दू विवाह अधिनियम, तलाक, गुजारा भत्ता तथा संरक्षण अधिनियम के मुकदमों की सुनवाई होगी। अभी तक अलग-अलग न्यायालय में ऐसे मुकदमों की सुनवाई होती थी। अब वे मामले भी इस पारिवारिक न्यायालय में आ गए हैं। अब इस पारिवारिक न्यायालय के शुरू होने से लोगों के समय की भी बचत होगी तथा केसों का निपटारा भी सुगमता से होगा।
इस अवसर पर अतिरिक्त जिला न्यायधीश विमल कुमार व एस.के. खंडुजा, प्रधान न्यायधीश पारिवारिक न्यायालय डॉ. सुनीता ग्रोवर, अतिरिक्त एवं जिला सत्र न्यायधीश करूणा शर्मा, अतिरिक्त मुख्य न्याय दंडाधिकारी सुखप्रीत सिंह, मुख्य न्याय दंडाधिकारी राजेश कुमार यादव, मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी एवं सचिव जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण पीयूष शर्मा, प्रधान बाल न्याय अधिकारी रीतू यादव, प्रथम श्रेणी न्यायधीश प्रचेता सिंह, गौरंग शर्मा व गुलशन वर्मा तथा जिला बार प्रधान जितेन्द्र रावत सहित अन्य बार सदस्य मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here