यौन शोषण के अपराधी भारतीय कैथोलिक पादरी को 6 साल की जेल

0
442

 

न्यू यॉर्क : अमेरिका में एक नाबालिग लड़की के यौन शोषण करने के अपराध में पूर्व भारतीय रोमन कैथोलिक पादरी को 6 साल जेल की सजा सुनाई गई है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, 38 वर्षीय जॉन प्रवीन ने को फरवरी में 13 साल की एक बच्ची को साउथ डकोटा के रैपिड सिटी चर्च में गलत तरीके से छूने का आरोपी पाया गया था। अभियोजक की ओर से अधिकतम 1 साल की सजा की मांग किए जाने के बाद जज स्टीवन मंडेल ने पादरी को सजा सुनाई। मंडेल ने कहा कि 1 साल की सजा प्रवीन के अपराध के लिए कम है। उन्होंने प्रवीन को 6 साल की सजा सुनाई, इसमें से उसके द्वारा जेल में बिताए जा चुके 178 दिन कम कर दिए जाएंगे। 3 साल के बाद उसे पैरोल भी मिल सकेगी।

प्रवीन द्वारा 16 साल से कम की बच्ची के साथ यौन शोषण का आरोप स्वीकारने के बाद उसे यह सजा सुनाई गई। इस अपराध के लिए अमेरिका में अधिकतम 15 साल की जेल का प्रावधान है। मंडेल ने कहा कि प्रवीन को पैरोल दी जाती है। पैरोल बोर्ड उसके देश (भारत) की सिक्यॉरिटी से उसे तुरंत हैदराबाद ले जाने या फिर कहीं भी पैरोल पर रहने के लिए पूछेगा।

प्रवीन ने माफी मांगते हुए कोर्ट से कहा कि वह चाहता है कि जो कुछ उसने किया, काश वह न हुआ होता। प्रवीन ने शुक्रवार को कोर्ट में रोते हुए कहा, ‘मैंने जो कुछ किया है, उसके लिए मैं पीड़ित और उसके परिवार से माफी मांगता हूं।’ उसने कहा कि वह जानता है कि माफी मांगना ही काफी नहीं है और काश जो कुछ हुआ, वह न हुआ होता। उसने दोबारा कभी भी किसी को दुख न पहुंचाने का वादा किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here