महिला एवं किशोरी सम्मान योजना व मुख्यमंत्री दूध उपहार योजना का शुभारम्भ

0
45

 

पलवल, । हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बुधवार को पंचकुला में विडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यमसे महिलाओं, किशोरियों व बच्चों के लिए महिला एवं किशोरी सम्मान योजना व मुख्यमंत्री दूध उपहार योजना का शुभारम्भ किया। आयोजित राज्यस्तरीय कार्यक्रम में महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती कमलेश ढांडा भी उपस्थित रही। पलवल लघु सचिवालय के कांफ्रेंस हॉल में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि उपायुक्त नरेश नरवाल ने महिला एवं किशोरी सम्मान व मुख्यमंत्री दूध उपहार योजना के शुभारंभ के अवसर पर इन दोनो योजनाओं के 10-10 लाभार्थियों को सेनेटरी नैपकिन व सुगन्धित दूध का वितरण किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार शिक्षा, स्वास्थ्य, सुरक्षा, स्वावलंबन के साथ ही अब स्वाभिमान के साथ समाज को नई दिशा देने में अपनी जिम्मेवारी निभा रही है। बाल स्वास्थ्य लाभ सहित महिला स्वालंबन पर सरकार का विशेष फोकस है।
उपायुक्त नरेश नरवाल ने सभी लाभार्थियों, महिला एवं बाल विकास परियोजना अधिकारियों एवं सुपरवाइजरों को उनके द्वारा किए जा रहे कार्यों की सराहना की। उन्होंने महिला एवं बाल विकास अधिकारियों को इन दोनो योजनाओं के क्रियान्वयन के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सभी संबंधित लाभार्थी को इसका पूर्ण लाभ मिले, इसके लिए सभी लाभार्थियों के हस्ताक्षर एवं पहचान पत्र नंबर लिया जाए ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि सभी लाभार्थियों को इन योजनाओं का लाभ मिल रहा है। स्वच्छता व स्वास्थ्य विकास के मूलमंत्र हैं और इसी सिद्धांत पर चलते हुए प्रदेश सरकार की ओर से इन दो महत्वाकांक्षी योजनाओं का शुभारंभ किया गया है। सरकार का प्रयास है कि शिशुओं, किशोरावस्था व महिलाओं में अनिमिया जैसे रोग के कारण स्वास्थ्य हानि न हो इसके लिए सरकार की ओर से विभागीय स्तर पर स्वास्थ्य सेवाएं प्रदत्त की जा रही हैं।
महिला एवं बाल विकास विभाग पलवल की जिला कार्यक्रम अधिकारी श्रीमती मिनाक्षी चौधरी ने बताया कि महिला एवं किशोरी सम्मान योजना के तहत जिला में गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले 37 हजार 205 परिवारो (बीपीएल) की लगभग महिलाओं एवं किशोरियों को लगभग 75 हजार पैकेट सेनेटरी नैपकिन के निशुल्क दिए गए। इसके अतिरिक्त मुख्यमंत्री दूध उपहार योजना के तहत 01 से 06 वर्ष तक के लगभग 95 हजार लाभार्थियों, जिनमें 74 हजार बच्चे व लगभग 10 हजार 600 गर्भवती महिलाएं एवं 10 हजार माताएं शामिल हैं को इस योजना के तहत फोर्टीफाइड स्किमड मिल्क पाउडर सेंटर के माध्यम से दिया गया। उन्होंने यह भी बताया कि सेनेटरी नैपकिन पैड व स्किम्ड मिल्क पाउडर का वितरण सभी लाभार्थियों के घर-घर जाकर करने के लिए सभी आंगनवाडी कार्यकर्ताओं को भेज दिया गया है।
इस अवसर पर महिला एवं बाल विकास परियोजना अधिकारी ओमवती व शकुन्तला रखेजा, जिला समन्वयक कर्मवीर डागर, पोषण सहायक राजेन्द्र डागर, सहायक गंगाराम, आंकड़ा सहायक पंकज गुप्ता व सभी सुपरवाइजर एवं आंगनवाडी कार्यकर्ता व लाभार्थी उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here