पलवल जिला में सघन मिशन इंद्रधनुष 2.0 का उद्घाटन वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से किया।

0
6

पलवल 02 दिसंबर। हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने पलवल जिला में सघन मिशन इंद्रधनुष 2.0 का उद्घाटन वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से किया। भारत सरकार के महत्वाकांक्षी कार्यक्रम सघन मिशन इंद्रधनुष 2.0 कार्यक्रम के तहत पलवल तथा नूंह जिला में बच्चों को सात जानलेवा बीमारियों से बचाव के लिए आवश्यक वैक्सीन दी जाएगी। उपायुक्त यशपाल ने वीडियो कांफ्रेंस के उपरांत लघु सचिवालय स्थित अपने कार्यालय में बच्चों को दवा पिलाकर कार्यक्रम का जिला में विधिवत शुभारंभ किया।स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि भारत सरकार की फ्लैगशिप योजना है। इस विशेष अभियान के तहत जिला मेवात व पलवल में 90 प्रतिशत बच्चों का टीकाकरण किया जाना है, जिसमें इन सभी बच्चों को 7 प्रकार की जानलेवा बिमारियों से बचाया जा सकेगा। यह अभियान चार महिने तक चलाया जाएगा। इस अभियान का उद्देश्य है कि कोई भी बच्चा टीकाकरण के बिना ना रहे। वीडियो कांफ्रेंस के दौरान स्वास्थ्य मंत्री के अतिरिक्त स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव अरोड़ा भी उपस्थित रहे।
स्वास्थ्य मंत्री की वीडियो कांफ्रेस के उपरांत उपायुक्त ने सभी विभागों को आपसी समन्वय के साथ कार्यक्रम को सफल बनाने के निर्देश दिए। मिशन इंद्रधनुष एक महत्वपूर्ण टीकाकरण है जिससे शिशु व मातृ मृत्यु दर को कम करना है। जिला में 6190 बच्चों 1150 गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि दूर दराज के इलाकों तक पहुंचने के लिए अन्य विभागों से वाहनों की व्यवस्था की गई है ताकि स्वास्थ्य विभाग का लक्ष्य एक भी बच्चा व गर्भवती महिला टीकाकरण से न छूटे पूरा हो सके। वर्तमान सरकार ने मातृ व शिशु मृत्यु दर को कम करने में सफलता हासिल की है।उपायुक्त ने बताया कि जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग का प्रयास से इस मिशन इंद्रधनुष कार्यक्रम के तहत कोई भी बच्चा टीकाकरण से वचिंत न रहने पाए क्योकि टीकाकरण हर बच्चे व गर्भवती महिला के लिए जरूरी है। उन्होंने जिलावासियों से भी अपील करते हुए कहा कि वे इस अभियान के अंतरगत अपने बच्चों को टीके अवश्य लगवाए। इस अभियान के तहत दूसरे चरण में भी शत-प्रतिशत व निर्धारित लक्ष्य से अधिक टीकाकरण हो इसलिए अभिभावक अपने 0 से 2 वर्ष तक के बच्चों को टीके लगवाना सुनश्चित करें।
स्वास्थ्य विभाग द्वारा गांवों व शहरों भी दो वर्ष तक के बच्चों के साथ- साथ गर्भवती महिलाओं के टीकाकरण का कार्य किया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस अभियान के दौरान दो वर्ष तक के जो बच्चे एवं गर्भवती महिलाएं टीकाकरण नहीं करवा सकी हैं, उनका टीकाकरण इस मिशन इंद्रधनुष 2.0 के तहत किया जाएगा। इस अवसर पर पलवल के एसडीएम जितेंद्र कुमार, सिविल सर्जन डा. प्रदीप शर्मा, उप-सिविल सर्जन डा. सुनीता शर्मा व जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. योगेश मलिक उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here