अमेरिका में सांसदों और ट्रंप के बीच समझौता नहीं हो पाने से सरकारी कामकाज हुआ ठप

0
415

वाशिंगटन: इस साल तीसरी बार अमेरिका में सरकारी कामकाज ठप हुआ है।शनिवार को सुबह 12 बजकर एक मिनट (जीएमटी समयानुसार 5:01) पर कई महत्वपूर्ण एजेंसियों का कामकाज बंद हो गया। इससे पहले कैपिटल हिल में व्हाइट हाउस के अधिकारियों और अमेरिकी कांग्रेस के दोनों दलों के नेताओं के बीच अंतिम क्षण तक चली बातचीत में वित्तपोषण को लेकर कोई सहमति नहीं बन पाई।हालांकि, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उम्मीद जतायी है कि यह बंद ज्यादा लंबा नहीं चलेगा।

ट्रंप ने ट्विटर पर एक वीडियो साझा करते हुए यह बात कही। गौरतलब है कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप मेक्सिको-अमेरिका सीमा पर दीवार के निर्माण के लिये 5 अरब अमेरिकी डॉलर की मांग कर रहे हैं, लेकिन विपक्षी डेमोक्रेटिक पार्टी के नेता इसका विरोध कर रहे हैं। समझौता नहीं हो पाने की वजह से दर्जनों एजेंसियों के लिये संघीय कोष 12 बजते ही खत्म हो गया। हालांकि, अभी यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि यह बंद कितने समय के लिये है। बताया जा रहा है कि इस दौरान करीब 800,000 सरकारी कर्मचारियों को या तो छुट्टी दी जाएगी या फिर क्रिसमस की छुट्टियों के बीच बिना वेतन काम पर बुलाया जाएगा।

कामकाज बंदी को टालने के लिये कदम उठाए बिना प्रतिनिधि सभा की कार्यवाही शुक्रवार को शाम सात बजे (2300) स्थगित हो गई जबकि सीनेट की बैठक एक घंटे बाद समाप्त हुई। दोनों सदनों की कार्यवाही शनिवार दोपहर शुरू होगी। सेना और स्वास्थ्य और मानव सेवा मंत्रालय समेत सरकार के तकरीबन तीन चौथाई विभागों के लिये सितंबर 2019 तक के लिये धन का इंतजाम है। शनिवार तक सिर्फ 25 फीसदी विभागों के लिये धन का इंतजाम नहीं हो सका। नासा के ज्यादातर कर्मचारियों को छुट्टी पर भेजा जाएगा। वाणिज्य मंत्रालय, गृह सुरक्षा, न्याय, कृषि और विदेश मंत्रालय के कर्मचारियों को भी छुट्टी पर भेजा जाएगा। राष्ट्रीय उद्यान खुले रहेंगे लेकिन ज्यादातर पार्क कर्मी घर पर रहेंगे। जहां ज्यादातर महत्वपूर्ण सुरक्षा कामकाज चालू रहेंगे, वहीं बजट को लेकर खींचतान और अनिश्चितता ने राजधानी में अराजकता की स्थिति पैदा कर दी है। शुक्रवार को अधिक खराब नुकसान के साथ वाल स्ट्रीट का एक दशक में सबसे खराब सप्ताह समाप्त हुआ।

वाशिंगटन के अपने सबसे बुनियादी कार्यों में से एक–प्रबंधन और सरकार चलाने– को पूरा करने में असमर्थ रहने से गहरी शर्मिंदगी और चिंता पैदा हुई है। इससे पहले संकट के लिए राजनीतिक विरोधियों को जिम्मेदार ठहराते हुए ट्रंप ने कहा, “यह डेमोक्रेट के ऊपर है कि आज रात कामकाज ठप हो या नहीं।” उन्होंने कहा, “लेकिन हम बहुत लंबे समय तक कामकाज ठप रहने की स्थिति के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।” सीनेटरों ने संवाददाताओं को बताया कि दोनों दलों के कांग्रेस के सदस्य पर्दे के पीछे व्हाइट हाउस के अधिकारियों के साथ बातचीत कर रहे थे, जिसमें उपराष्ट्रपति माइक पेंस, ट्रंप के दामाद जेरेड कुशनर और नव नियुक्त कार्यवाहक चीफ ऑफ स्टाफ मिक मुलवेनी शामिल थे। तीनों ने सफलता पाने के लिए कैपिटल हिल में रिपब्लिकन और डेमोक्रेट सांसदों के साथ कड़ी मशक्कत की, लेकिन यह शुक्रवार को नहीं हो पाया। एएफपी जोहेब दिलीपदिलीप

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here