मोदी सरकार में युवाओं को रोजगार के नाम पर की जा रही ठगी : विकास फागना

0
289

 

फरीदाबाद। एक तरफ तो मोदी सरकार में युवाओं को रोजगार के अवसर प्रदान करने की मुहिम छिड़ी हुई है और वहीं दूसरी तरफ उन्हीं की शासन में युवाओं की रोजगार के नाम पर दुर्गति हो रही है। युवाओं को रोजगार दिलवाने के नाम पर ज्वाइन तो करवा देते हैं दलाल और जब उनका समय तनख्वाह देने का आता है तो उन्हें वह तारीख पे तारीख देकर टरकाते रहते हैं। उन्हें उक्त कम्पनी में टाईम पर सैलरी नहीं दी जाती है। ऐसा ही मामला सामने आया है जिसमें एक निजी इंडस्ट्रियल सर्विस के नाम पर लगभग 40 के आसपास युवाओं को रोजगार के तहत एक निजी कंपनी में लगवाया गया। जिसका कार्यकाल 1 जून 2019 से लेकर 9 सितंबर 2019 तक का था। यह सभी युवा उसमें कार्य करते हैं और जब उनको सैलरी देने का टाइम आया तो कंपनी के मालिक के कहने पर में कम्पनी में कार्यरत अधिकारी और सभी को गुमराह करती रही और तारीख पे तारीख देती रही। गौरव मिश्रा जोकि डक्त कम्पनी में कार्य करते हैं अपने सभी साथियों को लेकर फरीदाबाद एनएसयूआई के जिला उपाध्यक्ष विकास फागना से मिले और बताया कि किस कदर सभी युवाओं को उक्त निजी कंपनी के मालिक और अन्य अधिकारियों द्वारा उनसे की धोखाधड़ी से अवगत कराया और अपनी पीड़ा बताई। विकास फागना द्वारा जारी विज्ञप्ती में विकास ने मोदी सरकार में प्रदेश में युवाओं को रोजगार के नाम पर की जा रही ठगी का जिक्र किया हुआ है। विकास ने युवाओं की पीड़ा को सुनकर तुरंत उनके साथ डीसी ऑफिस गए। लेकिन वहां डीसी ना होने के कारण तहसीलदार को उन्होंने डीसी के नाम एक ज्ञापन दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here