चीन में मेकअप इंडस्ट्री का विकास हो रहा है जिससे मानव बालों की मांग बढ़ी है

0
566

 

इस्लामाबाद : चीन में मेकअप इंडस्ट्री जैसे-जैसे विकास कर रही है वहां मानव बालों की मांग बढ़ रही है। स्थानीय स्तर पर हेयर एक्सेसरीज का उत्पादन घटने के कारण चीन मानव केशों का आयात कर रहा है।पाकिस्तान ने चीन को पिछले पांच सालों में करीब 94 लाख रुपये की कीमत के एक लाख किलोग्राम मानव बालों का निर्यात किया है। दरअसल, पाकिस्तान के वाणिज्य एवं कपड़ा मंत्रालय ने नैशनल असेंबली को जानकारी दी कि पिछले पांच सालों में चीन को 1,05,461 किलोग्राम मानव बाल का निर्यात किया गया है।

उन्होंने बताया कि पहले स्थानीय लोग हेयर एक्सटेंशन, मूछें, बियर्ड और विग हाथ से बनाते थे, लेकिन चीनी मेकअप इंडस्ट्री में स्थानीय कारीगारों की साख कमजोर हुई है।

चौहान बताते हैं कि निर्यातकों ने हेयर सलोन में अपने डस्टबिन लगा रखे हैं । ग्राहकों के काटे गए बालों को बिन में इकट्ठा किया जाता है। निर्यातक 5,000 या 6,000 रुपये प्रति किलोग्राम की दर से बाल खरीदते हैं। उच्च गुणवत्ता वाले बालों का अमेरिका और जापान में भी निर्यात किया जाता है क्योंकि वहां मनोरंजन जगत में इसकी काफी मांग है। इस वक्त पाकिस्तान में भी हेयर एक्सटेंशन और विग की काफी मांग है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here