इमरान आमंत्रित करें तो वार्ता के लिए पाक दौरे के लिये तैयार : अफगान तालिबान

0
320

 

इस्लामाबाद: खबरों के मुताबिक अफगान तालिबान ने कहा कि पाक पीएम के साथ बातचीत के लिए तैयार हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, तालिबान ने कहा कि अगर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान अफगानिस्तान में 18 साल से चले आ रहे संघर्ष को खत्म करने के लिए उन्हें बातचीत का निमंत्रण देते हैं तो वो पाकिस्तान जाकर उनसे मुलाकात के लिये तैयार है।यह बयान इमरान खान के अमेरिका के अपने पहले आधिकारिक दौरे से इस्लामाबाद लौटने के कुछ घंटों बाद आया है। इमरान ने इस यात्रा के दौरान सोमवार को अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के साथ बातचीत में अफगान शांति प्रक्रिया पर चर्चा की थी और संघर्ष को समाप्त करने के लिए मिलकर काम करने पर सहमति जताई थी। मुलाकात के दौरान ट्रंप ने कहा कि अफगानिस्तान से अमेरिका को निकलने में पाकिस्तान मदद करेगा और अमेरिका व पाकिस्तान के संबंधों में काफी संभावनाएं हैं।
वाइट हाउस में हुई बातचीत के दौरान इमरान खान के साथ पाकिस्तानी सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा, आईएसआई के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल फैज हमीद भी मौजूद थे। कतर की राजधानी दोहा में तालिबान के राजनीतिक कार्यालय के प्रवक्ता सोहेल शाहीन ने बीबीसी उर्दू को बताया कि अगर प्रधानमंत्री खान औपचारिक निमंत्रण देते हैं तो वे उसे स्वीकर करेंगे। उन्होंने कहा, ‘हम अक्सर क्षेत्र के देशों का दौरा करते हैं और निश्चित रूप से पाकिस्तान भी जाएंगे जो हमारा मुस्लिम पड़ोसी है, अगर इस्लामाबाद की तरफ से औपचारिक निमंत्रण आता है तो।’
मीडिया में आई खबरों के मुताबिक अमेरिका एक सितंबर तक एक करार के लिये बातचीत कर रहा है जिसके तहत तालिबान की सुरक्षा गारंटियों के बदले अफगानिस्तान से अंतरराष्ट्रीय बल वापस चले जाएंगे। इन सुरक्षा गारंटियों में यह शर्त भी शामिल है कि अफगानिस्तान आतंकी संगठनों के लिये सुरक्षित पनाहगाह नहीं बनेगा। खान के अमेरिका दौरे से पहले चीन, रूस, अमेरिका और पाकिस्तान के प्रतिनिधियों ने बीजिंग में 10-11 जुलाई को अफगान शांति प्रक्रिया पर चर्चा की थी। वॉयस ऑफ अमेरिका ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री को उद्धृत करते हुए कहा कि खान ने कहा कि वह कुछ महीने पहले तालिबानी प्रतिनिधिमंडल से मिलना चाहते थे, लेकिन अफगान सरकार की आपत्ति के बाद उन्हें बैठक को रद्द करना पड़ा।

पाक प्रधानमंत्री ने कहा कि अब उन्होंने अफगान राष्ट्रपति अशरफ गनी से विद्रोही संगठन के साथ संभावित आगामी बैठक को लेकर बात की है। अफगान नेता लगातार पाकिस्तान पर गुपचुप तरीके से उनके देश में तालिबान के नेतृत्व वाले आतंकियों की मदद करने का आरोप लगाते रहे हैं और पाकिस्तानी अधिकारी इन आरोपों को खारिज करते रहे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here