हॉकी खेल को ग्रास रूट स्तर पर दिया जा रहा बढ़ावा |

0
9

पलवल, 5 नवम्बर: पलवल में हॉकी खेल को ग्रास रूट स्तर पर बढ़ावा देकर हॉकी के स्वर्णिम इतिहास को लाने का प्रयास किया जा रहा है। पलवल के नेताजी सुभाष चंद्र बोस स्टेडियम में हॉकी कोच ज्योति सैनी हॉकी खिलाडियों की नई पीढ़ी को तैयार करने में लगी हुई है।
हॉकी कोच ज्योति सैनी ने बताया कि हॉकी एक ऐसा खेल है जिससे हमारी भावनायें जुड़ी है। हॉकी में भारत का एक स्वर्णिम इतिहास रहा है, लेकिन अब ग्रास रूट स्तर पर इसे बढ़ावा देकर फिर से उस सुनहरे दौर को फिर से वापस लाने की तैयारी शुरू हो गई है। उन्होंने बताया कि हॉकी खेल को बढ़ावा देने के लिए नेताजी सुभाष चंद्र बोस स्टेडियम में हॉकी का मैदान तैयार किया गया है। खेल को बढ़ावा देने के लिए गांवों का रूख किया गया और खिलाडियों के परिजनों को समझाकर हॉकी खिलाडियों की टीम तैयार की गई है। स्कूल से पढऩे के बाद खिलाडी हॉकी के मैदान में कड़ा अभ्यास कर रहे है। जिले में हॉकी खिलाडियों की दो टीमें तैयार की गई है जिसमें एक टीम महिला हॉकी खिलाडियों की है, तो दूसरी टीम में पुरूष हॉकी खिलाड़ी है। दिलचस्प बात यह है कि महिला टीम तैयार करने में काफी मुश्किलें आई। महिला टीम में 20 खिलाडी रैगूलर तौर पर अभ्यास कर अपना पसीना बहा रही है। हॉकी को लेकर महिला व पुरूष दोनों टीमों में काफी उत्साह है। जिले में पहली बार हॉकी की टीम तैयार की गई है,सभी हॉकी खिलाडी तो मेहनत कर ही रहे है बल्कि खिलाडियों को देकर हॉकी कोच भी मेहनत कर खुश नजर आ रही है। हॉकी कोच ज्योति सैनी ने कहा कि सभी खिलाडियों को नियमित अभ्यास करवाया जा रहा है। ग्रॉस रूट से लेकर जिला स्तर पर सभी हॉकी खिलाडियों ने बेहत्तर परफोरमेंश दिया है,निश्चिततौर पर हॉकी खिलाड़ी स्टेट लेबल पर खेलकर जिले व प्रदेश का नाम रोशन करेगें। उन्होंने बताया कि जिले लेबर पर तैयार की गई टीम में नया गांव,दुर्गापुर,पंचवटी कॉलोनी,गल्र्स सीनियर सैकिंडरी स्कूल की छात्राऐं भी शामिल है। सभी खिलाडियों को खेल एवं युवा कार्यक्रम विभाग की तरफ से खेल का सामान उपलब्ध करवाया गया है। स्टेडियम में नवनिर्मित मल्टी फसिलिटीज सेंटर में खिलाडियों को सुविधाऐं प्रदान की जा रही है। स्टेडियम में आने वाले खिलाडियों को हॉकी खेल के प्रति जागरूक किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि हरियाणा राज्य सरकार की खेल नीति के तहत खिलाडियों को पुरूस्कार राशी भेट की जाती है,इसके अलावा स्टेट व नेशनल स्तर पर खेलने वाले खिलाडियों को स्टाईफंड भी दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार की खेल नीति से प्रभावित होकर युवाओं में खेलों के प्रति रूझान बढ़ता जा रहा है। शिक्षा के साथ खेल में हुनर दिखाने वाली खिलाड़ी मनीषा कुमारी ने बताया कि पांच वर्षो से स्टेडियम में अपना पसीना बहा रही है। सुबह व शाम के समय कई घंटों तक कड़ा अभ्यास किया जाता है। उन्होंने बताया कि कई बार स्टेट में पोजिशन हांसिल की है। पलवल नेताजी सुभाष चंद्र बोस स्टेडियम में हॉकी खिलाडियों को सभी सुविधाऐं प्रदान की जा रही है। कोच ज्योति सैनी हॉकी का प्रशिक्षण के दौरान हिट करना, पेनल्टी करना,खिलाडियों को फॉरवर्ड पर खेलना,हाफ बैक व फुल बैक पर खेलने के बारे में जानकारी प्रदान करती है। इसके साथ हॉकी खेल के नियमों के बारे में बारीकी से जानकारी दे रही है। खिलाडी मनीषा कुमारी ने बताया कि उनका सपना है कि देश की झोली में सोना व चांदी डालकर देश का नाम रोशन करू। हॉकी खिलाडी रेखा ने बताया कि तीन सालों से हॉकी खेल रही है। जिला स्तर पर अपनी पहचान बना चुकी है। अबकी बार स्टेट और उसके बाद में नेशनल खेलना है। उन्होंने कहा कि पलवल जिले में हॉकी को बढ़ावा दिया जा रहा है। खेल विभाग द्वारा खिलाडियों को सुविधाऐं प्रदान की जा रही है। बेटियों को हॉकी खेलता देश स्थानीय निवासी विजय वशिष्ठï ने बताया कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस स्टेडियम में लड़कियों को हॉकी खेलता देख वो भी प्रभावित हुए और उन्होंने हॉकी कोच से बात कर अपनी बेटी को भी हॉकी खेलना सिखाने का मन बना लिया। तीन महीने से उनकी बेटी भी हॉकी खेल रही है। उन्होंने कहा कि उनकी भी इच्छा है कि उनकी बेटी भी देश के लिए खेले और देश का नाम रोशन करे। उन्होंने कहा कि देश की सोच बदल रही है। लड़कियां भी खेलों में आगे आ रही है। अच्छा लगता है कि जब लड़कियां देश के लिए गोल्ड लाती है और देश का नाम रोशन करती है। लोगों की सोच में भी बदलाव आ रहा है पहले लोग लड़कियों को हीन भावना से देखते थे लेकिन वर्तमान में लड़कियों पर गौरव किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here