वैश्विक एयरलाइन कंपनियों ने अपनी उड़ानों के मार्ग बदले

0
292

 

दुबई:  ईरान द्वारा अमेरिकी निगरानी सैन्य ड्रोन को मार गिराने के बाद दुनियाभर की प्रमुख एयरलाइन कंपनियों ने अपनी उड़ानों के मार्ग परिवर्तित करने शुरू कर दिए ताकि होर्मुज जलडमरूमध्य के आसपास के क्षेत्रों से बचा जा सके। अमेरिका ने चेतावनी दी है कि वाणिज्यिक एयरलाइनरों पर गलती से हमला किया जा सकता है।गुरुवार को ईरान की ओर से दागी गई सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल से अमेरिकी नौसेना के मानवरहित विमान RQ-4A ग्लोबल हॉक को मार गिराने के बाद द फेडरल एविएशन ऐडमिनिस्ट्रेशन (FAA) ने क्षेत्र में ‘गलत पहचान या गलत अनुमान की संभावना’ की चेतावनी दी। अमेरिका के उक्त ड्रोन विमान के पंख बोइंग 737 जेट से बड़े थे और इसकी कीमत 10 करोड़ अमेरिकी डॉलर से अधिक थी।

अमेरिका ने कहा कि पहले उसने ईरान पर सीमित हमले की योजना बनाई थी लेकिन बाद में उसे वापस ले लिया। ऑस्ट्रेलिया की क्वांटस, ब्रिटिश एयरवेज, नीदरलैंड्स की केएलएम और जर्मनी की लुफ्तांसा ने भी कहा कि वे क्षेत्र से उड़ान से पहरेज करेंगी। वैश्विक एयरलाइंस को दिशानिर्देश मुहैया कराने वाली कंपनी OPS ग्रुप ने चेतावनी देते हुए कहा, ‘किसी नागरिक विमान को दक्षिणी ईरान में मार गिराने का खतरा वास्तविक है।’

ईरान ने अमेरिकी घोषणा पर तत्काल कोई प्रतिक्रिया नहीं व्यक्त की। FAA ने कहा कि उसकी चेतावनी तेहरान फ्लाइट इंफर्मेशन रीजन के क्षेत्र को प्रभावित कर सकती है। एफएए ने कहा, ‘क्षेत्र में सैन्य गतिविधियां और राजनीतिक तनाव बढ़ा हुआ है जो कि अमेरिकी नागरिक उड़ानों के लिए अनजाना जोखिम उत्पन्न करता है और यह गलत पहचान का खतरा उत्पन्न करता है।’

क्वांटस ने कहा कि होर्मुज जलडमरूमध्य और ओमान की खाड़ी से बचने के लिए वह अपनी लंदन उड़ानों के मार्ग परिवर्तित करेगी। नीदरलैंड एयरलाइन केएलएम और ब्रिटिश एयरवेज ने भी कहा कि उनकी उड़ानें जलडमरूमध्य से परहेज करेंगी। लुफ्तांसा ने कहा कि वह होर्मुज जलडमरूमध्य और ओमान की खाड़ी के साथ ही आसपास के क्षेत्र से परहेज करेगी। हालांकि, उसने कहा कि वह तेहरान के लिए अपनी उड़ानें जारी रखेगी।

अबु धाबी स्थित ऐतिहाद ने बिना कोई विस्तृत जानकारी दिए कहा कि ‘आकस्मिक योजनाएं’ लागू हैं। इसके अलावा अन्य प्रमुख एयरलाइन कंपनियों इमेरात और कतर एयरवेज के अलावा कुछ किफायती एयरलाइन कंपनियों ने तत्काल कोई टिप्पणी नहीं की। ईरान ने कहा है कि ड्रोन ने उसके हवाईक्षेत्र का उल्लंघन किया जबकि अमेरिकी ने मिसाइल दागे जाने को होर्मुज जलडमरूमध्य के ऊपर अंतरराष्ट्रीय हवाईक्षेत्र में ‘बिना उकसावे का हमला’ बताया है।

OPS ग्रुप ने कहा कि ड्रोन को मार गिराने के लिए इस्तेमाल ईरानी हथियार प्रणाली रूसी बक प्रणाली जैसी ही है जिसका इस्तेमाल कथित तौर पर 2014 में यूक्रेन में मलयेशियाई एयरलाइन को मार गिराने के लिए किया गया था। ट्रम्प ने शुरुआत में ट्वीट किया था, ‘ईरान ने एक बड़ी गलती कर दी है।’ बाद में वह घटना को कमतर करते प्रतीत हुए जब उन्होंने ओवल ऑफिस में संवाददाताओं से कहा कि ‘किसी जनरल या किसी और ने’ ड्रोन को मार गिराने की गलती की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here