श्री लंका से हार के बाद बढ़ी इंग्लैंड की मुश्किलें

0
344

 

नई दिल्ली: श्री लंका ने वर्ल्ड कप-2019 के मुकाबले में शुक्रवार को बेहद रोमांचक अंदाज में इंग्लैंड को हरा दिया। श्री लंका ने इससे पहले इंग्लैंड को 2011 और 2015 के विश्व कप में हराया था। हालांकि 1983 के विश्व कप में उसे मेजबान टीम से हार का सामना करना पड़ा था। हालांकि शुक्रवार को उसने यह हिसाब भी बराबर कर लिया। श्री लंका की टीम को खेलते देख लगा कि वह विश्व कप जीत चुकी है। 2019 विश्व कप में उसने सभी को चौंकाते हुए इंग्लैंड को 20 रनों से हरा दिया।

नुवान प्रदीप ने नंबर 11 के बल्लेबाज मार्क वुड को ऑफ स्टंप के बाहर पर्फेक्ट बॉल डालते हुए विकेट के पीछे कैच कराया। इसी के साथ श्री लंकाई खेमे का जश्न देखते ही बनता था। हालांकि बेन स्टोक्स (82 नॉट आउट, 89 गेंद, 7 चौके, और छह छक्के) ने इसुरु उदाना की गेंद पर छक्के चौके लगाकर इंग्लैंड की उम्मीदों को कायम रखा था।

232 रनों को बचाना कोई आसान नहीं था लेकिन अनुभवी पेसर लसिथ मलिंगा 43 रन देकर 4 विकेट, पार्ट टाइम ऑफ स्पिनर धनंजय डि सिल्वा (32/3), इसुरु उदाना 41/2 ने इंग्लैंड को 47 ओवर में 212 पर ऑल आउट कर श्री लंका के लिए सेमीफाइनल के लिए राह कायम रखी है।

इंग्लैंड को हालांकि चुका हुआ आंकना गलत होगा। वह वनडे क्रिकेट में दुनिया की नंबर एक टीम है। वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा का स्कोर उसने दो बार बनाया है। उसकी बल्लेबाजी में बेहद गहराई है और उसकी गेंदबाजी में विविधता। पर पहले पाकिस्तान और फिर श्री लंका से हारकर इंग्लैंड ने अपने लिए मुश्किलें पैदा कर ली हैं। उसे टूर्नमेंट का पक्का दावेदार माना जा रहा था और उसका बीते एक साल का खेल इस बात पर मुहर भी लगा रहा था। टीम फिलहाल मुश्किल में भले ही न हो लेकिन फिर भी परेशानी तो बढ़ ही गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here