इंग्लैंड की टीम भी करती थी बॉल टैंपरिंग

0
288

नई दिल्ली:  इंग्लैंड टीम के पूर्व स्पिनर मोंटी पनेसर ने अपनी टीम पर बॉल टैंपरिंग के गंभीर आरोप लगाए हैं। मोंटी ने अपनी किताब ‘द फुल मोंटी’ में अपने क्रिकेट के अनुभवों को बेबाक अंदाज में लिखा है। इस किताब में उन्होंने बॉल टैंपरिंग की बात भी कबूली है और यह भी बताया है कि टीम के साथी खिलाड़ी और वह खुद उनके प्रमुख गेंदबाज जेम्स एंडरसन की मदद के लिए बॉल टैंपर किया करता थे।

इंग्लैंड के लिए 2006 से 2013 तक 50 टेस्ट खेलने वाले इस स्टार लेफ्ट आर्म स्पिनर ने बताया कि किन-किन तरकीबों से उनकी टीम बॉल टैंपरिंग करती थी। मोंटी की इस किताब के कुछ अंश इंग्लैंड की मशहूर न्यूज वेबसाइट ‘डेली मेल’ पर प्रकाशित किए गए हैं।

मोंटी के इस खुलासे ने क्रिकेट की दुनिया को एक बार फिर झकझोर कर रख दिया है। मोंटी ने खुलासा किया, ‘हमने पाया कि लार के साथ अगर मिंट और सन क्रीम का इस्तेमाल गेंद की शाइन चमकाने के लिए करें, तो फिर गेंद को रिवर्स स्विंग कराने में मदद मिलती है।’इसके अलावा उन्होंने यह भी बताया, ‘मैं जानबूझकर बॉल को चालाकी के साथ अपने ट्राउजर पर लगी जिप पर रगड़ता था, ताकि गेंद एक साइड से और ज्यादा खराब और खुरदरी हो, जिससे वह हमारे फास्ट बोलरों को रिवर्स स्विंग में मददगार हो।’

अपनी किताब में उन्होंने यह भी लिखा, ‘हमने नियम तोड़ा या नहीं तोड़ा यह इस बात पर निर्भर करता था कि हम कैसे अपनी बात रख रहे हैं।’ मोंटी के मुताबिक, ‘यह शायद खेल भावना के साथ हेयर लाइन (बाल जितना) फ्रैक्चर जैसी चीटिंग थी। क्योंकि नियम यह भी कहता है कि आप गेंद को अपनी ड्रेस से रगड़ सकते हैं।’

बता दें मोंटी पनेसर 2009 में तब इंग्लैंड के हीरो बन गए थे, जब उन्होंने एशेज खिताब को इंग्लैंड के पास बचाए रखने में अहम रोल अदा किया था। पनेसर ने तब कार्डिफ में खेले गए पहले टेस्ट में जेम्स एंडरसन के साथ मिलकर क्रीज पर लंबे समय तक बैटिंग की थी। इन दोनों की साझेदारी ने इस टेस्ट में इंग्लैंड की हार टाल दी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here