सूरजकुंड मेले में दिखी देश-दुनिया की कला व संस्कृति की झलक सांस्कृतिक

0
603

 

फरीदाबाद। 33वां अंतरराष्ट्रीय सूरजकुंड मेला एक और जहां हस्तशिल्पियों को अपने कला दिखाने का मौका दे रहा है तो दूसरी और लोक कलाकारों के लिए यहां की छोटी व बड़ी चौपाल आकर्षण का केंद्र बनी हुई हैं। उद्घाटन अवसर पर मेजबान हरियाणा के साथ-साथ देश ही नहीं बल्कि विदेशों की लोक कलाकारों ने भी अपना जलवा खूब बिखेरा।ॉ
उद्घाटन अवसर पर हरियाणा के प्रसिद्ध लूर नृत्य की प्रस्तुती खासी आकर्षण का केंद्र रही। क्योंकि यह नृत्य आमतौर पर कंवारी लड़कियों द्वारा अपने भविष्य व अपनी शादी के सपनों पर आधारित है। हरियाणा के इस लोक नृत्य पर विदेशी मेहमान भी जमकर थिरके। इसके साथ ही थीम स्टेट महाराष्ट्र का लावणी नृत्य भी खासा पसंद किया किया। पार्टनर देश थाईलेंट के सुरिंद्रा यूनिवर्सिटी के छात्रों ने इंद्रवाद्य पर शानदार धुन प्रस्तुत की और उसके बाद थाईलैंड की कलाकारों ने वहां का पारंपरिक लोक नृत्य प्रस्तुत कर सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया।
लूर नृत्य प्रस्तुत करने वाली लड़कियों की मांग पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अखिल भारतीय कला परिषद द्वारा हरियाणा सरकार के साथ किए गए समझौते के तहत दूसरे देशों में भी इन कलाकारों को मंच प्रदान करने का आश्वासन दिया। इसके साथ ही विभिन्न धार्मिक पात्रों की वेशभूषाओं के साथ-साथ देश के विभिन्न आंचलिक क्षेत्रों से पहुंचे कलाकारों ने भी मेले में आने वाले सभी अतिथियों का स्वागत किया।
इन लोक कलाकारों ने मेले में इस ढंग से समां बांधा कि विदेशी पर्यटक भी इनके साथ थिरकते नजर आए। अफ्रीकी देशों नाईजीरिया, किनिया, जिम्मबाबे व अन्य देशों के कलाकारों ने भी मेले में अपनी प्रस्तुती दी।
भारतीय डाक विभाग ने सूरजकुंड मेले, रामायाण व महाभारत पर विशेष डाक फोल्डर भी किया जारी
33वें अंतरराष्ट्रीय सूरजकुंड मेले के अवसर पर भारतीय डाक विभाग द्वारा भी विशेष योगदान किया गया। भारतीय डाक विभाग ने अंतरराष्ट्रीय सूरजकुंड मेले की महता को देखते हुए एक विशेष डाक फोल्डर इस अवसर पर जारी किया। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस व हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सभी अतिथियों के साथ ये फोल्डर जारी किया। इसके साथ ही रामायण व महाभारत पर भी विशेष फोल्डर डाक विभाग द्वारा जारी किए गए । हरियाणा की प्रधान मुख्य डाकपाल रंजू प्रसाद के प्रयासों से यह विशेष फोल्डर डाक विभाग द्वारा डारी किया गया।
छत्रपति शिवाजी महाराज की राजधानी रायगढ़ फोर्ट की प्रतिमूर्ति अब हर वर्ष रहेगी पर्यटकों का आकर्षण
33वें अंतरराष्ट्रीय सूरजकुंड मेले के अवसर पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस व हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने संयुक्त रूप से छत्रपति शिवाजी महाराज की राजधान रायगढ़ फोर्ट की प्रतिकृति का उद्घाटन किया। महाराष्ट्र व मराठा वीरता का प्रतीक यह किला महाराष्ट्र में छत्रपति शिवाजी द्वारा स्थापित किया गया था और यह देशभर के लोगों की आस्था का बड़ा केंद्र है। अब इस किले की प्रतिकृति मेला परिसर में स्थाई रूप से रहेगी और हर वर्ष यहां आने वाले पर्यटकों को आकर्षित करेगी और महाराष्ट्र की महान ऐतिहासिक गाथा का वर्णन करेगी।
दोनों मुख्यमंत्रियों ने अपना घर में पहुंचकर खाए गोंद के लड्डू, हरियाणवी पगड़ी भी बंधवाई
33वें अंतरराष्ट्रीय सूरजकुंड मेले में पहुंचे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्रीदेवेंद्रफडनवीसवहरियाणाकेमुख्यमंत्रीमनोहर लालमेलेकाभ्रमणकरते हुए अपना घर में पहुंचे। यहां पर डा. महासिंह पुनिया ने उनका स्वागत किया। यहां मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री को हरियाणा की स्मृद्ध सांस्कृतिक विरासत से अवगत करवाया। दोनों नेताओं ने यहां गोंद के लड्डू भी खाए। इसके बाद उन्होंने हरियाणवी पगड़ी बंधवाई। इस मौके पर हरियाणा के मुख्यमंत्री ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री को हरियाणवी सांझी का चित्र भी भेंट किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here