लोगों के धैर्य व दृढ़ संकल्प के कारण जिला में कम हो रहे हैं कोरोना पोजिटिव केस

0
286

गुरुग्राम, 12 अप्रैल ।कोविड-19 वैश्विक महामारी के विरूद्ध हर व्यक्ति की उल्लेखनीय भागीदारी है। जिला प्रशासन के साथ ही सामाजिक व धार्मिक संस्थाएं जिस निष्ठा व लग्न के साथ अपनी भूमिका कोरोना संघर्ष सेनानी के रूप में निभा रही हैं वह गुरुग्राम जिला के स्वास्थ्य सुरक्षा का अहम पहलू है। गुरुग्राम जिला का हर आमजन मानस पूरे धैर्य व दृढ़ संकल्प के साथ कोरोना महामारी के खिलाफ घर पर रहकर अपनी जिम्मेवारी निभा रहा है।
उपायुक्त अमित खत्री ने गुरुग्राम जिला के हर आमजन द्वारा इस आपदा की स्थिति में दिए जा रहे धैर्य पर उनका आभार व्यक्त करते हुए एक दूसरे से दूरी बनाकर कोरोना के संक्रमण को आगे बढऩे से रोकने में योगदान देने के लिए प्रेरित किया है।
गुरुग्राम जिला का शहरी व ग्रामीण क्षेत्र हो रहा है रोजाना सैनेटाइज :
उपायुक्त अमित खत्री ने कहा कि गुरुग्राम जिला प्रशासन टीम वर्क के साथ आपदा की इस घड़ी में एकजुट होकर दिन-रात कार्य कर रहा है। उन्होंने बताया कि जिला के शहरी व ग्रामीण क्षेत्र को रोजाना सैनेटाइज किया जा रहा है। साथ ही जिला के सोहना, बादशाहपुर, पटौदी व गुरुग्राम में बने अस्थाई शैल्टर होम को भी सैनेटाइज करते हुए प्रवासी श्रमिकों को हर संभव स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान की जा रही हैं। कोविड-19 लॉकडाउन की इस स्थिति पर लगातार मोनिटरिंग की जा रही है तथा सभी गतिविधियों पर नजर रखते हुए संबंधित टीम को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए जा रहे हैं। एसडीएम जितेंद्र कुमार, एसडीएम राजेश प्रजापत, एसडीएम चिनार चहल व एसडीएम हितेंद्र अपने-अपने उपमंडल में कोई भी व्यक्ति भूखा न रहे इसके लिए गंभीरता से कदम उठा रहे हैं और जरूरतमंदों तक भोजन उपलब्ध करा रहे हैं।
उपायुक्त के निर्देशानुसार गुरुग्राम जिला के सभी उपमंडल में माइक्रो प्लानिंग के तहत डोर-टू-डोर स्वास्थ्य विभाग की टीम जिला के हर घर में दस्तक दे रही हैं। साथ ही पूरा ब्यौरा स्वास्थ्य सुरक्षा के दृष्टïगत संकलित किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here