कांग्रेस ने बीजेपी के घोषणापत्र को झांसापत्र करार दिया है

0
68

नई दिल्ली : भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) द्वारा 2019 लोकसभा चुनाव के लिए जारी घोषणापत्र पर कांग्रेस ने जमकर हमला बोला है। कांग्रेस ने इसे ‘झांसापत्र’ और झूठ का गुब्बारा करार दिया है।

कांग्रेस ने बीजेपी और पीएम नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि इससे अच्छा होता कि बीजेपी माफीनामा जारी कर लेती। कांग्रेस ने आरोप लगाया कि पिछले 5 साल में बीजेपी ने कुछ नहीं किया। एक प्रेस कॉन्फ्रेस में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने कहा, ‘बीजेपी और कांग्रेस के घोषणापत्र में साफ अंतर देख सकते हैं। कवर पेज पर हमारे घोषणापत्र में लोगों की भीड़ है लेकिन बीजेपी के घोषणापत्र में केवल एक आदमी है।’ उन्होंने कहा कि बीजेपी का घोषणापत्र झूठ का गुब्बारा है। उन्होंने कहा, ‘बीजेपी का घोषणापत्र साइट पर ही रह जाता है। कभी चायवाला, कभी चौकीदार, कभी कामदार और कभी फकीर और कभी कुछ और कहकर देश के लोगों को गुमरा किया जा रहा है।’

पटेल ने कहा, ‘बीजेपी जो वादे करती है वह कभी निभाती नहीं है। जिस तरह के वादे किए गए हैं, यह चलने वाला नहीं है। 5 साल में बीजेपी को हिसाब देना चाहिए कि बेरोजगारी, किसानों और व्यापारियों के लिए जो वादे किए गए हैं उनका क्या हुआ। रोजगार के लिए कोई ठोस कदम इसमें नहीं है। बीजेपी के इस घोषणापत्र का देश से वास्ता नहीं है। बहुत हो गया है, देश की जनता अच्छी तरह से आपको जान चुकी है।’

अहमद पटेल ने कहा कि कांग्रेस पार्टी के घोषणापत्र में कहा गया है कि अब न्याय होगा और अब न्याय होकर रहेगा। उन्होंने कहा, ‘झूठ का गुब्बारा ज्यादा समय तक नहीं चलने वाला है। सब लोगों को हमेशा के लिए गमुराह नहीं किया जा सकता है।’

कांग्रेस एक अन्य वरिष्ठ नेता रणदीप सुरजेवाला ने बीजेपी के घोषणापत्र को जुमला और झांसों का पत्र कहा है। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने एक बार फिर झांसा पत्र तैयार किया है और देश की जनता उनको खारिज करेगी। सुरजेवाला ने 2014 में बीजेपी द्वारा किए गए वादों की जिक्र कर कहा कि इस घोषणापत्र में काले धन पर बीजेपी चुप है। बेरोजगारी पर भी कोई बात नहीं की गई है। सुरजेवाला ने कहा कि झांसे में फांसो मोदी का मूलमंत्र है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here