बांग्लादेश ने हजारों रोहिंग्या शरणार्थियों की म्यांमार वापसी की योजना रद्द की

0
374

ढाका : बांग्लादेश ने हजारों रोहिंग्या शरणार्थियों की म्यांमार वापसी की योजना को रद्द कर दिया। इससे पहले रोहिंग्या समुदाय के लोगों ने म्यांमार लौटने से इनकार कर दिया था जहां उन्हें अपनी जान का खतरा है। पिछले साल अगस्त से सात लाख से अधिक रोहिंग्या शरणार्थी म्यांमार का रखाइन प्रांत छोड़ चुके हैं। इससे पहले उनके खिलाफ क्रूरतापूर्ण सैन्य कार्रवाई की गई थी।

एक रोहिंग्या प्रदर्शनकारी ने एक निजी टीवी चैनल से बातचीत में कहा, ‘हम अपनी सुरक्षा और सम्मान चाहते हैं। हमें उन पर (म्यांमार के अधिकारियों पर) भरोसा नहीं है।’

संयुक्त राष्ट्र ने इसे जातीय सफाए का उदाहरण बताया था, वहीं अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार संगठनों ने इसे नरसंहार की संज्ञा दी। इसे लेकर दुनियाभर में नाराजगी देखने को मिली। बांग्लादेश ने गुरुवार को 485 परिवारों के 2000 रोहिंग्या लोगों के पहले जत्थे की देश वापसी की तैयारियां शुरू कर दी थी। म्यांमार के साथ अक्टूबर में तय हुई योजना के तहत यह किया जा रहा था।

हालांकि, अधिकारियों ने कहा कि कॉक्स बाजार के शिविर में गुरुवार सुबह से चार ट्रक और तीन बसें खड़ी हैं जो उन शरणार्थियों को ले जाने को तैयार हैं लेकिन एक भी उन पर सवार होने को तैयार नहीं है। मौके पर मौजूद राहत आयुक्त कार्यालय के एक अधिकारी ने कहा, ‘बसें तैयार हैं और हमने वापस जाने वालों के लिए तीन दिन का राशन भी तैयार कर रखा है, लेकिन पहले बैच में कोई बस पर सवार नहीं हुआ है।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here