अमेरिका भी आया भारत के साथ, पाक को दी नसीहत आतंकी ठिकानों को खत्म करने की

0
312

वॉशिंगटन : पुलवामा हमले के बाद भारत की तरफ से पाकिस्तान में आतंकी ठिकानों पर की गई कार्रवाई के बाद ऑस्ट्रेलिया और फ्रांस के बाद अमेरिका भी भारत के पक्ष में खड़ा नजर आ रहा है। अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने पाकिस्तान से अपनी जमीन से ऑपरेट हो रहे आतंकी ठिकानों को खत्म करने को कहा है। पॉम्पियो का कहना है कि सिर्फ ऐसा करने पर ही दोनों देशों के बीच टेंशन कम हो सकती है। अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने कहा, ‘मैंने पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी से बात की और उनसे किसी भी सैन्य कार्रवाई से बचते हुए वर्तमान तनाव को कम करने की प्राथमिकता पर ध्यान देने को कहा। साथ ही पाकिस्तान से उनकी जमीन पर ऑपरेट हो रहे आतंकी ठिकानों पर सख्त कार्रवाई करने को कहा।’अमेरिका के विदेश मंत्री ने बयान जारी कर कहा, ‘भारत की तरफ से 26 फरवरी को की गई आतंक विरोधी कार्रवाई के बाद, मैंने भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से बात की और उनसे सुरक्षा सहयोग और क्षेत्र में शांति और सुरक्षा बनाए रखने के लक्ष्य पर जोर देने को कहा। मैंने पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी से बात की और उनसे किसी भी सैन्य कार्रवाई से बचते हुए वर्तमान तनाव को कम करने की प्राथमिकता पर ध्यान देने को कहा। मैंने दोनों देशों के मंत्रियों से कहा है कि हम दोनों देशों के बीच शांति चाहते हैं। टकराव को किसी भी कीमत पर टाला जाना चाहिए। हम चाहते हैं कि दोनों देश सीधे संवाद को प्राथमिकता दें और किसी भी सैन्य कार्रवाई को नजरअंदाज करें। बता दें कि इससे पहले ऑस्ट्रेलिया और फ्रांस भी पाकिस्तान को अपने देश में हो रही आतंकी गतिविधि को खत्म करना चाहिए। फ्रांस ने सीमापार आतंकवाद के खिलाफ अपनी सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए भारत की कार्रवाई को मान्यता दी और पाकिस्तान से कहा कि वह अपनी सीमा में आतंकी ऑपरेशनों पर लगाम लगाए। फ्रांस जहां आतंक के खिलाफ लड़ाई में हर रूप में भारत का समर्थन कर रहा है, साथ अंतरराष्ट्रीय समुदाय को आतंकवाद के खिलाफ एकजुट करने में भारत की मदद भी कर रहा है।

वहीं ऑस्ट्रेलिया की विदेश मंत्री मैरिस पाइन ने कहा कि पाकिस्तान को अपनी भूमि पर सक्रिय आतंकी संगठनों के खिलाफ तुरंत सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। उन्होंने कहा, ’14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर में हुए आतंकी हमले के बाद ऑस्ट्रेलिया की सरकार भारत और पाकिस्तान के बीच संबंधों को लेकर चिंतित है। ऑस्ट्रेलिया ने इस हमले की निंदा की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here