प्राइवेट और विदेशी बैंकों के करीब 10 लाख कर्मचारी एक दिवसीय हड़ताल हड़ताल पर

0
480

मुंबई:विजया बैंक और देना बैंक के बैंक ऑफ बड़ौदा के साथ प्रस्तावित विलय के खिलाफ आज विभिन्न सरकारी बैंकों, कुछ प्राइवेट और विदेशी बैंकों के करीब 10 लाख कर्मचारी हड़ताल पर हैं। बैंक कर्मचारियों की एक दिवसीय हड़ताल की वजह से आज (बुधवार) बैंकिंग सेवाएं प्रभावित हैं। एक सप्ताह से भी कम समय में यह दूसरी बैंक हड़ताल है। इससे पहले, 21 दिसंबर को बैंक अधिकारियों ने हड़ताल की थी।

गौरतलब है कि क्रिसमस की छुट्टी की वजह से मंगलवार को भी बैंक थे। बैंक कर्मचारियों की देशव्यापी हड़ताल से पैसे जमा करने और निकालने, चेक क्लीयरेंस और डिमांड ड्राफ्ट जैसी बैंकिंग सेवाएं प्रभावित हो रही हैं। सरकार ने सितंबर में सार्वजनिक क्षेत्र के विजया बैंक और देना बैंक का बैंक ऑफ बड़ौदा में विलय करने की घोषणा की थी। इससे देश का तीसरा सबसे बड़ा बैंक अस्तित्व में आएगा। यूनियन दावा कर रही हैं कि यह विलय बैंकों या उनके ग्राहकों के हित में नहीं, बल्कि दोनों के लिए हानिकारक होगा।

यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस (यूएफबीयू) ने हड़ताल का आह्वान किया है। यूएफबीयू ने कहा कि सरकार विलय के जरिए बैंकों का आकार बढ़ाना चाहती है लेकिन यदि देश के सभी सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों को भी मिलाकर एक कर दिया जाए तो भी विलय के बाद बनने वाली संयुक्त इकाई को दुनिया के शीर्ष 10 बैंकों में स्थान नहीं मिलेगा। यूएफबीयू नौ बैंक यूनियनों का संगठन है। इसमें ऑल इंडिया बैंक आफिसर्स कन्फेडरेशन, द ऑल इंडिया बैंक एम्पलाइज असोसिएशन और नैशनल आर्गेनाइजेशन आफ बैंक वर्कर्स समेत अन्य यूनियन शामिल हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here