1 सितंबर से 7 सितंबर तक राष्ट्रीय पोषण सप्ताह मनाया गया। 

0
128

पलवल, 07 सितंबर। जीवन को खुशहाल बनाने के लिए शरीर का स्वस्थ होना अति आवश्यक है तथा शरीर को स्वस्थ रखने के लिए संतुलित आहार की जरूरत होती है। इस संबंध में लोगों को बेहतर स्वास्थ्य व संतुलित आहार के बारे में जागरूक करने के लिए प्रतिवर्ष 1 सितंबर से 7 सितंबर तक राष्ट्रीय पोषण सप्ताह मनाया जाता है। इस संदर्भ में महिला एवं बाल विकास विभाग के सौजन्य से पोषण माह के तहत प्रदर्शनी लगाई गई तथा कम लागत से बनने वाले व्यंजनों को भी बनाना सिखाया गया। 

कार्यक्रम की अध्यक्षता महिला एवं बाल विकास परियोजना अधिकारी श्रीमती सपना अरोड़ा के द्वारा की गई तथा कार्यक्रम में खंड पलवल की सुपरवाइजर श्रीमती कविता, श्रीमती सरोज, श्रीमती गमन तथा श्रीमती सुषमा ने सहयोग किया। श्रीमती सपना अरोड़ा ने बताया कि स्वस्थ संतुलित आहार करने से कई प्रकार के रोगों से मुक्त होते हैं। संतुलित आहार दिमाग को तेज तथा स्वस्थ बनाता है, जिससे मनुष्य मानसिक रुप से भी मजबूत बनता है। भोजन से प्राप्त ऊर्जा शरीर को संचालित करती है, जिसके फलस्वरूप मांसपेशियों में क्रियाएं होती है और शारीरिक शक्ति के कारण हम सभी कार्य संपन्न कर पाते हैं। संतुलित भोजन नहीं कर पाने की स्थिति में शरीर निर्बल होने लगता है और शरीर विभिन्न रोगों से पीडि़त हो जाते हैं। संतुलित भोजन शरीर को स्वस्थ व संतुलित बनाए रखता है। 

इस अभियान को सफल बनाने के लिए ग्राम स्तर पर सभी आंगनबाड़ी केंद्रों में भी पोषण माह मनाया जा रहा है, जिसके अंतर्गत अति कुपोषित बच्चों, गर्भवती महिलाओं, धात्री महिलाओं तथा किशोरी बालिकाओं के वजन तथा उनके खान-पान के बारे में भी परामर्श दिया जा रहा है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here