विराट ने किया पृथ्वी के खेल की तारीफ

0
638

हैदराबाद: युवा ओपनर पृथ्वी साव की प्रतिभा की तारीफ हर जुबान पर है। हर कोई उनके साहसी खेल की तारीफ कर रहा है। लेकिन बात तब और भी खास हो जाती है, जब किसी युवा खिलाड़ी की तारीफ उसका कप्तान करे। विराट ने इस खिलाड़ी की तारीफ करते हुए कहा है कि पृथ्वी की उम्र में मैं या कोई और खिलाड़ी उसके जैसा 10 फीसदी खेल भी नहीं खेल पाते थे।

भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने कहा, ’18-19 साल की उम्र में वह (पृथ्वी) जो हैं, मुझे नहीं लगता कि हम में से कोई उसका 10 प्रतिशत भी रहा होगा।’ कोहली ने कहा कि इतने निडर खिलाड़ी का टीम में होना काफी अच्छी बात है।

विराट ने कहा, ‘इस खिलाड़ी ने टीम में मिले मौके को बखूबी भुनाया है। वह इस सीरीज में ऐसा प्रतीत हुआ जैसा कि आपकी टीम को अच्छी शुरुआत के लिए जरूरत होती है। जब आप अपनी पहली ही सीरीज में ऐसा उम्दा प्रदर्शन करते हैं, तो इसके मायने और भी ज्यादा बढ़ जाते हैं। इसलिए यह बहुत खास हो जाता है, जब आपकी टीम में कोई ऐसा निडर खिलाड़ी हो।

हैदराबाद: युवा ओपनर पृथ्वी साव की प्रतिभा की तारीफ हर जुबान पर है। हर कोई उनके साहसी खेल की तारीफ कर रहा है। लेकिन बात तब और भी खास हो जाती है, जब किसी युवा खिलाड़ी की तारीफ उसका कप्तान करे। विराट ने इस खिलाड़ी की तारीफ करते हुए कहा है कि पृथ्वी की उम्र में मैं या कोई और खिलाड़ी उसके जैसा 10 फीसदी खेल भी नहीं खेल पाते थे।

भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने कहा, ’18-19 साल की उम्र में वह (पृथ्वी) जो हैं, मुझे नहीं लगता कि हम में से कोई उसका 10 प्रतिशत भी रहा होगा।’ कोहली ने कहा कि इतने निडर खिलाड़ी का टीम में होना काफी अच्छी बात है।

विराट ने कहा, ‘इस खिलाड़ी ने टीम में मिले मौके को बखूबी भुनाया है। वह इस सीरीज में ऐसा प्रतीत हुआ जैसा कि आपकी टीम को अच्छी शुरुआत के लिए जरूरत होती है। जब आप अपनी पहली ही सीरीज में ऐसा उम्दा प्रदर्शन करते हैं, तो इसके मायने और भी ज्यादा बढ़ जाते हैं। इसलिए यह बहुत खास हो जाता है, जब आपकी टीम में कोई ऐसा निडर खिलाड़ी हो।

इस युवा खिलाड़ी की तारीफ में भारतीय कप्तान ने कहा, ‘साव निडर खिलाड़ी जरूर है, लेकिन वह लापरवाह नहीं है। उसे अपने खेल पर पूरा विश्वास है। आप ऐसा सोच सकते हैं कि वह जल्दी ही किनारा देकर आउट हो जाएगा। लेकिन वह शायद ही बॉल पर बैट का किनारा लगाता हो। हमने उन्हें इंग्लैंड में भी बैटिंग करते देखा था, जब वह नेट्स पर प्रैक्टिस करते थे। वह अटैकिंग खिलाड़ी हैं, लेकिन अपने खेल को नियंत्रण में रखते हैं और गलतियां करना पसंद नहीं करते। उनकी यह खासियत उन्हें दुनिया के उन चुनिंदा खिलाड़ियों में शुमार करती है, जो नई गेंद के खिलाफ बेहतर खेल दिखाते हैं। नई गेंद से कई तरह के शॉट पूरे नियंत्रण में रहते हुए खेलना उनकी काबिलियत को साबित करता है।’

ऑस्ट्रेलियाई सीरीज से पहले अपने कप्तान से तारीफ सुनकर पृथ्वी के विश्वास और खेल में और भी निखार आना तय है। ऑस्ट्रेलियाई दौरे पहले कप्तान द्वारा पृथ्वी के खेल की इतनी तारीफ उनका मनोबल बढ़ाने के लिए शानदार है। ‘

ऑस्ट्रेलियाई सीरीज से पहले अपने कप्तान से तारीफ सुनकर पृथ्वी के विश्वास और खेल में और भी निखार आना तय है। ऑस्ट्रेलियाई दौरे पहले कप्तान द्वारा पृथ्वी के खेल की इतनी तारीफ उनका मनोबल बढ़ाने के लिए शानदार है। ‘

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here