ट्रंप ने बोला रूस के राष्ट्रपति पुतिन हत्याओं और जहर देने की घटनाओं में शामिल हो सकते हैं लेकिन ये मामले अमेरिका के नहीं हैं।

0
744

वॉशिंगटन : अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनाल्ड ट्रंप ने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को लेकर चौंकाने वाला बयान दिया  है। ट्रंप ने दावा किया कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन हत्याओं और जहर देने की घटनाओं में शामिल हो सकते हैं लेकिन ये मामले अमेरिका के नहीं हैं।

टीवी इंटरव्यू के दौरान उन्होंने यह भी कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के वक्त रूस के साथ-साथ चीन ने भी हस्तक्षेप किया था। रविवार रात प्रसारित हुए सीबीएस न्यूज को दिए इंटरव्यू में ट्रंप ने उत्तर कोरिया, चीन, रूस और उनके खुद के वेस्ट विंग कर्मचारियों और मंत्रीमंडल से अपने संबंधों पर भी चर्चा की। पुतिन की आलोचना को लेकर लग रहे आरोपों पर ट्रंप ने कहा, ‘मुझे लगता है कि मैं निजी तौर पर उनके साथ सख्त हूं। मेरी उनके साथ बैठक हुई है। वह बहुत ही मुश्किल थी लेकिन बेहतरीन रही।’

यह पूछने पर कि क्या उन्हें लगता है कि 2016 के अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में रूस ने हस्तक्षेप किया था? इस पर वह कहते हैं, मुझे नहीं लगता कि इसमें सिर्फ रूस का ही हाथ था। ट्रंप कहते हैं, ‘उन्होंने (रूस) हस्तक्षेप किया लेकिन साथ में चीन भी था और मुझे लगता है कि अन्य देश भी थे और सच कहूं तो चीन बहुत बड़ी समस्या है।’

उत्तर कोरिया के संदर्भ में ट्रंप ने कहा कि वह किम जोंग उन के मानवाधिकार उल्लंघनों के बारे में जानते हैं लेकिन उनकी कोशिश से अमेरिका के समक्ष खतरे कम हुए हैं। अपनी पत्नी और प्रथम महिला मेलानिया ट्रंप के वाइट हाउस में अविश्वसनीय सहयोगियों के मौजूद होने के बयान पर उन्होंने कहा, ‘मुझे भी ऐसा लगता है। मैं वाइट हाउस में किसी पर भरोसा नहीं करता। मैं आपसे सच कहूंगा।’

हाल के दिनों में चीन और अमेरिका के बीच व्यापार युद्ध जारी है। अमेरिका ने चीन के 250 अरब डॉलर मूल्य के उत्पादों पर आयात शुल्क लगा दिया है। चीन से बातचीत के बारे में पूछने पर ट्रंप ने कहा, ‘मेरा चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ अच्छा तालमेल है। मुझे नहीं लगता कि यह चीज यूं ही जारी रहेगी। मैंने राष्ट्रपति शी को बताया है कि हम नहीं चाहते कि चीन व्यापार और अन्य जरियों से अमेरिका से हर साल 500 अरब डॉलर की कमाई करे। मैं उन्हें बताया कि हम ऐसा नहीं करना चाहते।’

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here