जीका वाइरस सेहत के लिए खतरनाक हो सकता है

0
334

जीका वाइरस के मामलों में चिंताजनक हो गए हैं। इस वाइरस के संबंध में डब्लूएचओ द्वारा जारी चेतावनी में कहा गया है कि गर्भवती महिलाओं में इस वाइरस का असर भविष्य में अविकसित दिमाग वाले बच्चों के तौर पर सामने आ सकता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने जीका वाइरस से बचने के लिए मच्छरों से बचाव की सलाह दी है। इसके लिए मच्छर मारने वाली दवाओं का छिड़काव जरूरी बताया है। साथ ही शरीर को पूरी तरह ढककर रखने की सलाह दी गई है।

जीका वाइरस के लक्षण

पीड़ित के शरीर पर रैशेज जैसे लाल चकते नजर आने लगते हैं।

बेहद आम लक्षण होते हैं इस वाइरस के। जो बाद में खतरनाक रूप ले सकते हैं। पीड़ित व्यक्ति को शुरू में हल्का बुखार होता है।

यह हैं जीका वाइरस के खतरे

जोड़ो में दर्द, शरीर पार लाल चकते, अत्यधिक थकान और आंखें लाल होने की समस्या हो जाती है।

अगर गर्भवती महिला इस वाइरस की चपेट में आ जाए तो होने वाले बच्चे का विकास अवरुद्ध हो सकता है। बच्चा छोटे आकार का और अविकसित दिमाग साथ जन्म लेता है।

जीका वाइरस से पीड़ित होने पर मरीज को तेज बुखार हो जाता है। यह चिकगुनिया, डेंगू और येलो फीवर में बदल सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here