गुरुग्राम में महिला एवं बाल विकाश द्वारा चलाया गया महिलाओं के लिए अभियान

0
205

गुरुग्राम,मुकेश कुमार

गुरूग्राम में  महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा चलाए जा रहे पोषण पखवाड़े के तहत आज जिला के लक्ष्मण विहार, गांव भौड़ाकलां, गांव खेड़ा खुर्रमपुर सहित विभिन्न स्थानो पर  महिलाओं की रक्तजांच व एनीमिया से बचाव को लेकर विभिन्न प्रकार की गतिविधियां चलाई गई।इस बारे में जानकारी देते हुए महिला एवं बाल विकास विभाग की कार्यक्रम अधिकारी सुनैना ने बताया कि 22 मार्च तक चलाए जा रहे पोषण पखवाड़े के दौरान महिलाओं व बच्चों के स्वास्थ्य से जुड़े 5 सूत्रों ध्यान केन्द्रित करते हुए विभिन्न प्रकार की गतिविधियां आयोजित की जा रही है। उन्होंने बताया कि पोषण पखवाड़े के दौरान महिलाओं को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने को लेकर एक्टिविटी कलैण्डर तैयार किया गया है। इस कलैण्डर में 22 मार्च तक प्रत्येक दिन अलग-अलग प्रकार की गतिविधियां करवाने की योजना है। एक्टिविटी कलैण्डर के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि 12 मार्च को जिला में विभिन्न स्थानों पर बच्चों के साईकिल व पोषण रैली निकाली जाएगी जिसमें महिलाओं को अंडर वैट बच्चों के स्वास्थ्य का ध्यान रखने तथा स्तनपान के फायदों के बारे में बताया जाएगा। इसी प्रकार, 13 मार्च को स्वच्छता ड्राइव, 14 मार्च को पोषण पंचायत, बच्चों व माताओं की पौष्टिक तत्वों को लेकर काउंसलिंग, हैल्थ चैकअप, 15 मार्च को प्रभात फेरी, 16 मार्च को जागरूकता शिविर, 17 मार्च को पोषण  18 मार्च को एनीमिया फ्री कैंप, 19 मार्च को महिला गोष्ठी, 20 मार्च को विलेज हैल्थ एंड सैनिटेशन पर वर्कशॉप , 21 मार्च को पोषण वाॅक व साईकिल  रैली  तथा 22 मार्च को पोषण पखवाडे़ के दौरान करवाई गई गतिविधियों की समीक्षा की जाएगी। श्रीमति सुनैना ने बताया कि पोषण पखवाड़े का उद्देश्य कुपोषण, रक्तहीनता और बच्चों में वजन की समस्या कम करने पर काम किया जाएगा। पोषण पखवाड़े के दौरान जिला के गांवो में पोषण पंचायतें लगाई जाएंगी जिसमें महिलाओं व बच्चों के स्वास्थ्य संबंधी महत्वपूण जानकारी दी जाएगी। इस दौरान पोषण शपथ भी दिलाई जाएगी ताकि महिलाएं स्वयं के साथ साथ अपने बच्चों का ध्यान रखने के लिए प्रेरित हों। उन्होंने बताया कि पोषण पखवाड़े के दौरान महिला ब्रांड एम्बेसडर भी महिलाओं के बीच जाकर उन्हें स्वास्थ्य का ध्यान रखने के लिए प्रेरित करेंगी और उन्हें स्वास्थ्य लाभ तथा हेल्दी फूड डाईट के बारे में भी बताएंगी। श्रीमति सुनैना ने बताया कि पोषण पखवाड़े में महिलाओं व बच्चों के स्वास्थ्य से जुड़े पांच सूत्रों पर काम किया जाएगा। पहले सूत्र के अनुसार गर्भावस्था से लेकर बच्चे के दो वर्ष तक होने पर उसके खान-पान के क्या क्या शामिल करना चाहिए, के बारे में जानकारी दी जाएगी। गर्भावस्था के 270 दिनों के दौरान महिलाओं का डाईट चार्ट, बच्चे के जन्म से लेकर उसके एक वर्ष(365 दिन) तक होने तक का डाईट प्लान तथा उसके दूसरे वर्ष(365 दिन) के दौरान पौष्टिक आहार आदि के बारे में विस्तार से बताया जा रहा है। इस प्रकार, पहले सूत्र में 1000 दिनों में बच्चे के संपूर्ण विकास से जुड़े बिंदुओ पर विस्तार से चर्चा की जाएगी। पहले सूत्र का नाम ‘पहले सुनहरे 1000 दिन दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here