उत्तर कोरिया में महिलाओं की स्थिति बेहद खराब है

0
524

वॉशिंगटन। उत्तर कोरिया में महिलाओं की स्थिति बेहद खराब है। यहां महिलाओं का यौन शोषण रोजमर्रा की दिनचर्चा का हिस्सा है। एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि उत्तर कोरिया में बड़े पैमाने पर महिलाओं का यौन शोषण होता है और ऐसे मामलों की लगभग कहीं कोई सनवाई नहीं है।

रिपोर्ट के मुताबिक, उत्तर कोरिया में इस कदर महिलाओं का शोषण होने के बावजूद 2015 में सिर्फ पांच लोगों को दुष्कर्म का दोषी ठहराया गया। जबकि दुनिया से अलग-थलग पड़े उत्तर कोरिया में महिलाओं के खिलाफ यौन हिंसा का स्तर इतना ज्यादा है कि अब उसे सामान्य जिंदगी का हिस्सा मानकर स्वीकार कर लिया गया है।खुले में होता है यौन शोषण

ह्यूमन राइट्स वॉच के कार्यकारी निदेशक केनेथ रॉथ बताते हैं, ‘उत्तर कोरिया में यौन हिंसा खुले में होती है और इस पर आमतौर पर ध्यान नहीं दिया जाता और इस दरिंदगी को स्वीकार कर लिया गया है।’ केनेथ ने कहा है कि उत्तर कोरिया इस रिपोर्ट को नजरअंदाज नहीं कर सकता।

उन्होंने कहा, ‘इस रिपोर्ट के बाद उत्तर कोरिया नहीं कह सकता कि उसके देश में यौन हिंसा नहीं होती है, इसलिए उन्हें या तो अपनी ये कहना बंद करना होगा या फिर समस्या का हल निकालना होगा। किम जोंग-उन इसे रोक सकते हैं, वे यौन शोषण के खिलाफ कड़ा कानून लागू कर सकते हैं।’

बता दें कि ह्यूमन राइट्स वॉच की रिपोर्ट अपना देश छोड़ चुके करीब 50 उत्तर कोरियाई शरणार्थियों के साथ किए गए साक्षात्कार पर आधारित है।

इन लोगों से बात करके रिपोर्ट में कहा गया है कि उत्तर कोरिया में सत्ताधारी पार्टी में उच्च पदों पर बैठे लोग, जेलों में तैनात गार्ड, पुलिस, बाजार के अधिकारी, अभियोजक और सेना महिलाओं के साथ दुष्कर्म करते हैं। ऐसा करने की उन्हें कोई सजा भी नहीं मिलती है। इतना ही नहीं, यहां यौन हिंसा के बारे में रिपोर्ट करने पर उल्टे महिलाओं को ही सजा हो सकती है। जिसमें पिटाई, हिरासत में रखना या फिर जबरन काम करवाना शामिल हो सकता है।

ज्यादातर यौन शोषण की घटनाएं तब होती हैं जब महिलाओं को हिरासत में रखा जाता है।उत्तर कोरिया से भाग निकली एक महिला ने बताया कि 2014 में उसके साथ जेल में यौन शोषण हुआ है, गार्ड ने उसके साथ जबरदस्ती की थी। एक अन्य महिला बताती है, ‘जेल में जब भी ‘क्लिक’ की आवाज आती थी, हर कोई सहम जाता था। ये आवाज जेल के ताले की चाबी की होती थी। हर रात जेल का गार्ड सेल खोलता था। मैं चुपकर छिपकर खड़ी हो जाती थी, ऐसे दिखाती थी कि मैंने उसे देखा ही नहीं है।

ये दुआ करती थी कि आज रात मैं इनका शिकार न हूं। रिपोर्ट के अनुसार, यौन शोषण का शिकार एक और उत्तर कोरियाई महिला ने बताया, ‘वहां यौन शोषण इतनी आम बात है कि किसी को यह बड़ी घटना नहीं लगती। पुरुष जो महिलाओं का यौन उत्पीड़न करते हैं, उन्हें ये कुछ गलत नहीं लगता और महिलाओं को भी कोई फर्क नहीं पड़ता। हमें महसूस तक नहीं होता है कि कब हम दुखी हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here