आमजन को अपने काम के लिए विभागों में नहीं घूमना पड़ेगा|

0
661
फरीदाबाद, 28 सितंबर ।
अतिरिक्त उपायुक्त जितेन्द्र कुमार ने कहा कि आम आदमी को अब अपने काम करवाने के लिए अलग-अलग विभागों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे बल्कि उन्हें सरकार द्वारा दी जाने वाली 600 से अधिक सेवाएं एक ही छत के नीचे उपलब्ध करवाई जा रही है। इसके लिए जिला व उपमंडल स्तर पर अंत्योदय सरल केंद्र खोले जाएंगे।
 अतिरिक्त उपायुक्त  आज शुक्रवार को हुड्डा के सभागार में सभी विभागों के कार्यालय अध्यक्षों को प्रशिक्षित करने के लिए आयोजित एक दिवसीय डिजिटल हरियाणा वर्कशॉप को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सभी कार्यालयाध्यक्ष अपने विभागों की सभी योजनाओं की ऑनलाइन प्रगति का विश्लेषण करने का पर्याप्त प्रशिक्षण लें। सेमिनार में सीएम सैल, चंडीगढ़ से आए हार्दिक राठौड़ ने अंत्योदय सरल के तहत आने वाली सभी सेवाओं और इन्हें प्रदान करने में कार्यालयाध्यक्षों की जिम्मेदारियों के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

अतिरिक्त उपायुक्त ने कहा कि जनता को सरकारी सेवाएं देने वाले 37 विभागों द्वारा दी जाने वाली 236 योजनाओं के अंतर्गत 400 से अधिक सेवाएं इस समय सरल पोर्टल पर उपलब्ध करवाई जा चुकी हैं, जिनकी संख्या जल्द ही 600 से अधिक की जाएंगी। उन्होंने कहा कि इस पोर्टल पर मिलने वाली सेवाओं को सेवा का अधिकार कानून के तहत नोटिफाई किया गया है ताकि ये सेवाएं सरकार द्वारा निर्धारित समयावधि में लोगों को प्रदान की जा सके।

  उन्होंने कहा कि आम आदमी अंत्योदय सरल केंद्रों अथवा अपने घर से भी सेवाएं लेने के लिए आवेदन कर सकता है। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी सेवा अधिकार कानून अधिनियम को ध्यान में रखते हुए कार्य करें। उन्होने कहा कि मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर बाजरे की फसल का ब्यौरा इतनी तेजी से अपलोड हो गया जो सोचा भी नहीं था। उन्होंने कहा कि आईटी के इस युग में अब यह जरूरी हो गया है कि हम अपने आप को अपडेट रखे। अतिरिक्त उपायुक्त ने कहा कि जिला के सभी अधिकारी आपसी तालमेल कर काम करे तथा जिला को नम्बर एक पर लाने का कार्य करें। उन्होंने कहा कि जो भी विभाग जिला में बेस्ट परर्फाेमैंस देगा उसे माह में स्मृति चिह्न प्रदान किया जाएगा इसके अतिरिक्त 26 जनवरी के समारोह मे उसे सम्मानित भी किया जाएगा।

अतिरिक्त उपायुक्त  ने कहा कि बदलते समय के साथ सभी सेवाएं ऑनलाइन हो रही हैं। ऑनलाइन होने के कारण अधिकारियों-कर्मचारियों द्वारा किए जा रहे कार्यों का सिलसिलेवार रिकॉर्ड सरकार व विभागों के चंडीगढ़ मुख्यालय पर संरक्षित रहेगा। उनहोंने कहा कि हरपथ एप के लिए अधिकारी साक्रटवेयर को स्वयं हैंडल करना सीख ले ताकि कोई दिक्कत आये। एडीसी  ने सुझाव दिया कि हरपथ में सेफ रोड को शामिल किया जाए ताकि लोगों को सुगम व सुरक्षित सफर मिल सकें।

सीएम सैल के हार्दिक राठौड़ ने बताया कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने एक साल पहले यह निर्देश दिए कि नागरिकों को सभी सेवाएं एक ही प्लेटफार्म पर मिले जिसे जी2सी यानी गवर्नमेंट टू सिटिजन कहा गया है।
   हरियाणा देश का पहला ऐसा राज्य है जिसने एक ही पोर्टल पर 400 से अधिक सेवाएं अपने नागरिकों को उपलब्ध करवानी शुरू की है। हरियाणा के उदाहरण से प्रेरित होकर 3 अन्य राज्यों, कर्नाटक, झारखंड व त्रिपुरा ने हरियाणा सरकार से इस मॉडल को अपने राज्यों में लागू करने में सहायता की मांग की है। सरल केंद्र पूरी तरह से कैशलैस व पेपरलैस होगा। उन्होंने कहा कि सरल पोर्टल के बारे में सरकार द्वारा 1800-2000-023 हैल्प लाईन नम्बर भी जारी किया गया है व्यक्ति इस नम्नबर से जानकारी ले सकता है।
 उन्होंने बताया कि विभागों द्वारा आवेदनों के निपटान करते हुए सेवाएं उपलब्ध करवाने की प्रगति के आधार पर प्रत्येक विभाग का सरल स्कोर बनेगा जिसकी समीक्षा जिला स्तर पर उपायुक्त और प्रदेश स्तर पर खुद मुख्यमंत्री करेंगे। उन्होंने बताया कि बिना प्रचार हर रोज 30 हजार लोग सरल पर अप्रोच कर रहे हैं। जल्द ही सरल पोर्टल का उपयोग करने वालों की संक्चया में भारी बढ़ोतरी होने की उम्मीद है। सरल से जुड़े नागरिकों के आंकड़ों का उपयोग देश व प्रदेश की भविष्य की योजनाएं बनाने में भी मदद मिलेगी। फरीदाबाद मे जिला स्तर पर एक अन्तोदय भवन ,एक अन्तोदय सरल केन्द्र तथा उपमंडल बड़खल व बल्लभगढ में एक-एक अन्तोदय सरल केन्द्र स्थापित किए गए है।
उन्होंने मौके पर ही अधिकारियों को ऑनलाइन डेमो करके दिखाया कि वे अपने विभाग के डैशबोर्ड को किस प्रकार संचालित कर सकते हैं। उन्होंने अधिकारियों-कर्मचारियों के सवालों, जिज्ञासाओं और समस्याओं के संबंध में विस्तार से जानकारी देते हुए उनका समाधान किया। उत्कृश ने कहा कि जिले को हरपथ में 4-स्टार बनाना है और हरपथ व ट्वीटर पर आने वाली शिकायतों का पूरा ध्यान रखे।
इस अवसर पर अतिरिक्त उपायुक्त जितेन्द्र कुमार,  एसडीएम , एसडीएम फरीदाबाद सतबीर मान , एसडीएम बल्लभगढ राजेश कुमार सीटीएम बलीना , मुख्यमंत्री सुशान सहयोगी उत्कर्षा , एसीपी रविन्द्र सिंह,एनआईसी डीआईओ एल एन मित्तल सहित अन्य विभागों के अधिकारी भी मौजूद थे।
इससे पूर्व एडीसी ने, सीएम सैल से हार्दिक राठौड़ , एसडीएम , मुख्यमंत्री सुशासन सहयोगी के साथ सरल केन्द्र का अवलोकन किया तथा यहां पर कार्य करवाने आये हुए लोगो से इस केन्द्र की सुविधा के बारे में जानकारी ली।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here