अब्दुल्ला यामीन हटने को तैयार नहीं फिर शुरू हो सकता है राजनीतिक संकट

0
570

 

नई दिल्ली :  राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन ने चुनाव में अपनी बड़ी हार के लिए गायब होने वाली स्याही और मतदान पत्रों में गड़बड़ी का आरोप लगाया है।

इससे मालदीव में एक नया राजनीतिक संकट शुरू हो सकता है। मालदीव में बदलती हुई स्थिति पर भारत करीबी नजर रख रहा है। यामीन ने शुरुआत में कहा था कि वह हार स्वीकार कर रहे हैं और 17 नवंबर को अपना कार्यकाल समाप्त होने पर पद से हटने के लिए तैयार हैं, लेकिन पिछले सप्ताह उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर चुनाव परिणाम रद्द करने की मांग कर दी।

सुप्रीम कोर्ट में कल को सुनवाई के दौरान यामीन के वकील मोहम्मद सलीम ने प्रिंटर पर मतदान पत्रों पर ऐसी कोटिंग करने का आरोप लगाया जिससे यामीन के बॉक्स में निशान वाले वोट गायब हो गए। सलीम ने कहा कि यामीन के लिए वोट करने जा रहे लोगों को गायब होने वाली स्याही के साथ एक स्पेशल पेन दिया गया था। हालांकि, इससे पहले सुनवाई में इलेक्शन कमीशन के वकील ने चुनाव में किसी भी गड़बड़ी से इनकार किया था।

सूत्रों के मुताबिक, ऐसा संभव है कि यामीन आसानी से पद न छोड़ें और वह इस पर बने रहने के लिए कड़ा संघर्ष करें और यह रणनीति उसी का हिस्सा है। हालांकि, इसके साथ ही सूत्रों ने दावा किया कि यामीन की कोशिशों का कोई खास फायदा नहीं होगा क्योंकि अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने चुनाव के नतीजे को निष्पक्ष और स्वतंत्र माना है। चुनाव में 89.2 पर्सेंट मतदान हुआ था।

अमेरिका ने हाल में कहा था कि अगर मालदीव के लोगों की इच्छा को अनदेखा किया गया तो वह उपयुक्त कदम उठाएगा। इससे पहले यूरोप की ओर से भी इसी तरह की चेतावनी दी जा चुकी है। यामीन की प्रोग्रेसिव पार्टी ने शनिवार को कहा था कि चुनाव में बड़े स्तर पर गड़बड़ी की गई थी।

इस परिणाम से चीन खुश नहीं है और उसने कहा है कि मालदीव में चीन की ओर से बनाए गए प्रोजेक्ट्स का भारत फायदा उठा सकता है और मालदीव की इकनॉमी को मजबूत करने के लिए दोनों देश हाथ मिला सकते हैं।

हालांकि, विपक्षी मालदीवियन डेमोक्रेटिक पार्टी के प्रवक्ता हामिद अब्दुल गफ्फूर ने कहा कि यामीन ने चुनाव के नतीजे को चुनौती देकर देश को अस्थिर करने की कोशिश की है। चुनाव में अप्रत्याशित रूप से संयुक्त विपक्ष के उम्मीदवार इब्राहिम मोहम्मद सालेह को विजेता घोषित किया गया था। इससे भारत के साथ मालदीव के संबंध बेहतर होने की उम्मीद बनी थी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here