अप्रत्यक्ष चुनाव करवाके हरियाणा को चौथी बार जलवाना चाहती है बीजेपी सरकार-एनएसयूआई

0
670
फरीदाबाद:आज प्रत्यक्ष चुनाव संघर्ष समिति के बैनर नीचे एनएसयूआई ने आगमी रणनीति पर बताया कि बीजेपी सरकार ने अप्रत्यक्ष चुनाव का भला ही ऐलान कर दिया हो लेकिन ये छात्र हितों के खिलाफ है और एक साजिश के तहत एबीवीपी को जिताने के लिए चुनाव करवा रही है। ओर कल मडीयू में प्रत्यक्ष चुनाव संघर्ष समिति के सदस्यों द्वारा किये जा रहे धरने को लेकर सभी छात्र नेताओं पर धारा 147 ,148 , 149 , 332 , 353 , 186 , 188 और “307” के तहत पुलिस पर राजनैतिक दबाव बनवाकर दर्ज करवाये मुकदमे का भी संयुक्त रूप से विरोध किया। इसमें हत्या के प्रयास का मुकदमा कही दूर दूर तक नही बनता है और ऐसा करके उसने अपने तानाशाही शासन का एक उदाहरण दिया है लेकिन बीजेपी सरकार ये ना भूले की हरियाणा में आज एबीवीपी को छोड़ कर बाकी सभी छात्र संगठन एक जुट है और इसका विरोध कर रहे है लेकिन सरकार अपनी सत्ता का इस्तेमाल कर छात्रों के संघर्ष को दबा रही है और आनन फानन में बड़ी बड़ी धराये लगा रही है अगर बीजेपी सरकार ये सोच रही है कि इन धाराओं से डर कर छात्र अपना अधिकार माँगना बंद कर देंगे तो ये उनकी भूल होगी, एक छोटी सी भूल से कही पूरे हरियाणा में इस आंदोलन को आग की तरह ना फैला दे अगर ऐसा कुछ भी होता है तो उसकी जिम्मेदार बीजेपी सरकार खुद होगी इसलिए समय से पहले ही चुनाव स्थगित करवा दी और प्रत्यक्ष रूप से चुनाव करवाने का ऐलान करे। हरियाणा पहले ही 3 बार जल चुका है कही इस चुनाव के चलते ठीक पिछले जैसे हालात ना बन जाये और फिर एक बार हरियाणा जल उठे।
एनएसयूआई से अपील है कि आने वाली 17 तारीख को अप्रत्यक्ष रूप से चुनाव ना करवाये ओर इसको बन्द कर प्रत्यक्ष रूप से चुनाव की घोषणा करे ओर छात्रों पर झूठे मुक्कदमे करने बन्द कर दे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here